सुप्रीम कोर्ट ने नौसेना से 10 महिला अधिकारियों को कार्यमुक्त करने पर रोक लगाई

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 30, 2020   15:53
सुप्रीम कोर्ट ने नौसेना से 10 महिला अधिकारियों को कार्यमुक्त करने पर रोक लगाई

उच्चतम न्यायालय ने स्थायी कमीशन देने की मांग कर रही नौसेना की 10 महिला अधिकारियों को कार्यमुक्त करने पर बुधवार को रोक लगादी। इन महिला अधिकारियों को 31 दिसंबर को कार्यमुक्त किया जाना है।

नयी दिल्ली। उच्चतम न्यायालय ने स्थायी कमीशन देने की मांग कर रही नौसेना की 10 महिला अधिकारियों को कार्यमुक्त करने पर बुधवार को रोक लगादी। इन महिला अधिकारियों को 31 दिसंबर को कार्यमुक्त किया जाना है। न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति अनिरुद्ध बोस की अवकाश पीठ ने नौसेना अधिकारियों की ओर से पेश वरिष्ठ अधिवक्ता मीनाक्षी अरोड़ा द्वारा मामले का उल्लेख किए जाने का संज्ञान लिया और अंतरिम राहत दी।

इसे भी पढ़ें: समिति का सुझाव- दिल्ली में शराब पीने की उम्र हो 21 साल, साल में सिर्फ 3 दिन ही हो ड्राई डे

वीडियो कांफ्रेंस से हुई सुनवाई पर पीठ ने कहा कि महिला अधिकारियों की याचिका पर केंद्र और नौसेना प्रमुख अपना जवाब दाखिल कर सकते हैं और इसके साथ् ही मामले की अगली सुनवाई 19 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दी।

इसे भी पढ़ें: गोपाल राय इलाज के लिए मुम्बई रवाना, उनके विभाग संभालेंगे मनीष सिसोदिया

अदालत ने कहा, ‘‘हम मामले की सुनवाई 19 जनवरी को लंबित रिट याचिका के साथ सूचीबद्ध करने का निर्देश देते हैं। इस बीच 18 दिसंबर (महिला अधिकारियों को कार्यमुक्त करने का) के आदेश पर अंतरिम रोक रहेगी।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।