मां ने कहा बर्तन धो ले, तो गुस्से में बेटी ने फ्राई पेन से सिर पर कर दिया वार, हुई मौत

मां ने कहा बर्तन धो ले, तो गुस्से में बेटी ने फ्राई पेन से सिर पर कर दिया वार, हुई मौत

पुलिस अधिकारी रणबिजॉय सिंह ने कहा कि आरोपी बेटी ने शुरू में उन्हें बताया कि वह टहलने गई थी और जब घर पहुंची तो मां लहूलुहान अवस्था में पड़ी हुई थी। लेकिन जांचकर्ताओं को किशोरी के बयान में गड़बड़ी दिखी।

केवल बर्तन धोने के लिए मां ने कहा तो कलयुगी बेटी ने अपनी ही मां की गुस्से में हत्या कर दी। बताया जा रहा है कि, किशोरी को मां ने बर्तन साफ करने के लिए फटकार लगाई थी जिससे बेटी गुस्से में आ गई और कड़ाही से मां के सिर पर वार कर दिया जिससे उसकी मां लहूलुहान अवस्था में नीचे गिर पड़ी। बाद में जब पीड़िता को अस्पताल लाया गया तो डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मृतक की उम्र 30 साल बताई जा रही है। पति से अलग होने के बाद वह बेटी के साथ ग्रेटर नोएडा के एक घर में रहती थी।

इसे भी पढ़ें: कर्नाटक में बजरंग दल कार्यकर्ता की हत्या मामले में अब तक 6 आरोपी गिरफ्तार, अन्य 12 से पूछताछ कर रही पुलिस

मंगलवार की शाम बेटी के घर लौटने पर बर्तन धोने को लेकर मां का युवती से विवाद हो गया और गुस्से में लड़की ने अचानक से मां के सिर पर कड़ाही मार दी। खूनी हालत में जमीन पर गिरने पर बेटी ने पड़ोसियों को बुलाया और बहाना किया कि मां बेहोश हो गई है। साथ ही कहा कि उसकी मां गिर गई थी जिससे उसकी मां के सिर से खून गिर रहा है। आसपास के लोगों ने महिला को अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

इसे भी पढ़ें: फेसबुक के जरिए महिला कांस्टेबल ने रचाया अफेयर, 5 साल रिलेशनशिप में रहने के बाद नाले में मिली लाश

पुलिस अधिकारी रणबिजॉय सिंह ने कहा कि आरोपी बेटी ने शुरू में उन्हें बताया कि वह टहलने गई थी और जब घर पहुंची तो मां लहूलुहान अवस्था में पड़ी हुई थी। लेकिन जांचकर्ताओं को किशोरी के बयान में गड़बड़ी दिखी। उसके बाद पुलिस ने आवास और फ्लैट के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच की जिससे पता चला कि बेटी जिस वक्त की बात कर रही थी, उस वक्त घर से कोई बाहर नहीं आया और न ही अंदर घुसा। जांचकर्ताओं ने पड़ोसियों से भी पूछताछ की। इसके बाद उन्होंने फिर से लड़की से पूछताछ की। तभी आरोपी बेटी ने जांचकर्ताओं को पूरा सच बताया। इस आरोप के आधार पर पुलिस ने किशोरी को गिरफ्तार कर लिया है और उसे एक सुधारक सुविधा के लिए भेज दिया गया है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।