कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राजगढ़ का किया दौरा, कहा- उसी स्थान पर फिर से बनाएंगे मंदिर

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राजगढ़ का किया दौरा, कहा- उसी स्थान पर फिर से बनाएंगे मंदिर
प्रतिरूप फोटो
ANI Image

कांग्रेस महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि हम उसी स्थान पर फिर से मंदिर बनवाएंगे। भाजपा का एक बड़ा नेता राजनीति के लिए अलवर गया और फूट-फूटकर रोया। उल्टा चोर कोतवाला को डांटे... अध्यक्ष और पूरा बोर्ड आज क्यों मौजूद नहीं है ? टीका राम जूली, जौहरी लाल मीणा, जितेंद्र सिंह समेत कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राजगढ़ का दौरा किया।

जयपुर। राजस्थान के अलवर जिले में अतिक्रमण रोधी अभियान के दौरान इस हफ्ते दो मंदिरों को ध्वस्त किए जाने को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस एक-दूसरे पर जमकर आरोप लगा रहे हैं। इसी बीच कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने अलवर जिले के राजगढ़ दौरा किया, जहां पर उन्हें स्थानीय लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। इस दौरान कांग्रेस महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह ने ऐलान किया कि हम उसी स्थान पर फिर से मंदिर बनवाएंगे। 

इसे भी पढ़ें: अलवर में मंदिर ध्वस्त किए जाने को लेकर भाजपा, कांग्रेस के बीच आरोप-प्रत्यारोप 

मंदिर वहीं बनाएंगे 

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, कांग्रेस महासचिव भंवर जितेंद्र सिंह ने कहा कि हम उसी स्थान पर फिर से मंदिर बनवाएंगे। भाजपा का एक बड़ा नेता राजनीति के लिए अलवर गया और फूट-फूटकर रोया। उल्टा चोर कोतवाला को डांटे... अध्यक्ष और पूरा बोर्ड आज क्यों मौजूद नहीं है ? आपको बता दें कि टीका राम जूली, जौहरी लाल मीणा और भंवर जितेंद्र सिंह समेत कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राजगढ़ का दौरा किया।

एडीएम अलवर सुनीता पंकज ने बताया कि वहां पर 3 मंदिर थे। जिनमें से 2 निजी मंदिर थे और एक नाले पर बनाया गया था। प्रशासन ने लोगों की सर्वसम्मति से मूर्तियों को हटाया। नगर पालिका द्वारा लोगों की उचित सहमति से गैर-विवादास्पद भूमि पर मंदिर बनेंगे। 

इसे भी पढ़ें: अलवर में 300 साल पुराने मंदिर पर गहलोत सरकार का बुलडोजर, ड्रिल से तोड़ा गया शिवलिंग, बीजेपी ने उठाए सवाल 

गौरतलब है कि राजगढ़ में रविवार और सोमवार को दो मंदिरों और कुछ दुकानों को ध्वस्त कर दिया गया। अधिकारियों ने एक सड़क को चौड़ा करने के लिए की गई इस कार्रवाई को अतिक्रमण रोधी अभियान बताया है। उन्होंने कहा कि इस कार्रवाई की मंजूरी भाजपा शासित राजगढ़ नगरपालिका बोर्ड ने दी थी और कार्रवाई में किसी भी प्रतिमा या गर्भगृह को नुकसान पहुंचने से इंकार किया है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...