हेल्थ केयर वर्कर्स में घट रहा डर, हर रोज बढ़ रही है वैक्सीनेशन की स्पीड

हेल्थ केयर वर्कर्स में घट रहा डर, हर रोज बढ़ रही है वैक्सीनेशन की स्पीड

एम्स के कार्डिएक थोरसासिक सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ शिव कुमार चौधरी को 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगाया गया था। उनके मुताबिक, कोरोना के टीके लगाने से उन्हें कोई भी दिक्कत नहीं आई है, वह पहले की ही तरह काम कर रहे है।

भारत में अभी भी कोरोना का खतरा बना हुआ है लेकिन इस बीच देश में कोरोना वैक्सीनेशन की प्रक्रिया भी काफी तेजी से चल रही है। बता दें कि अभी तक 20 लाख से ज्यादा लोगों को कोरोना के टीके लगाए जा चुके है। खबर के मुताबिक, दिल्ली के हेल्थ वर्कर भी बिना डरे कोरोना वैक्सीन लगा रहे है जिससे कोरोना महामारी से लड़ने की जंग और भी मजबूत होती जा रही है। बता दें कि सीनियर डॉक्टर से लेकर बड़े अधिकारियों द्वारा कोरोना वैक्सीन लेने से एक साकारात्मक प्रतिक्रिया बनी है। इसी कारण से अब जूनियर डॉक्टर से लेकर नर्स और हेल्थवर्कर भी बिना किसी झिझक के कोरोना वैक्सीन लगा रहे है। बता दें कि दिल्ली में कोरोना वैक्सीनेशन का औसत अब 91 फीसदी से ज्यादा पहुंच गया है।

इसे भी पढ़ें: महबूबा ने पीडीपी नेता पारा की हिरासत पर कहा, केंद्र कश्मीरी नेताओं का दमन कर रहा

कोरोना टीके से नहीं कोई दिक्कत

एम्स के कार्डिएक थोरसासिक सर्जरी विभाग के एचओडी डॉ शिव कुमार चौधरी को 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगाया गया था। उनके मुताबिक, कोरोना के टीके लगाने से उन्हें कोई  भी दिक्कत नहीं आई है, वह पहले की ही तरह काम कर रहे है। डॉ चौधरी ने सभी को कोरोना के टीके लगाने की सलाह दी और कहा कि हमें डॉक्टर और साइंटिस्टों पर भरोसा रखना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि- कोई भी टीके लगाने से इफेक्ट्स आते ही है।

खत्म हो रहा है डर

खबरों के मुताबिक, दिल्ली में कोरोना वैक्सीनेशन के छठे दिन 90 फीसदी से ज्यादा हेल्थकेयर वर्कर कोरोना के टीके लगाने पहुंच रहे है, इनमें से 41 हॉस्पिटलों ने अपना टारगेट पूरा कर लिया है। पहले हेल्थ वर्कर डरे हुए थे और वैक्सीनेशन कराने से झिझक रहे थे। लेकिन अब हेल्थकेयर वर्कर खूब आगे आ रहे है। कोरोना एक्सपर्ट मैक्स हॉस्पिटल के रोमेल टिक्कू ने भी कोरोना के टीके लगाए है और उन्होंने कहा कि इन टीको को लगाने के बाद में पहले जैसा ही महसूस कर रहा हूं। उन्होंने अपने साथियों समेत तमाम हेल्थकेयर वर्कर को कोरोना के टीके लगाने की फभी अपील की है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

राष्ट्रीय

झरोखे से...