कोरोना के नये वेरिएंट को लेकर सरकार पूरी तरह मुस्तैद: मुख्यमंत्री मनोहर लाल

कोरोना के नये वेरिएंट को लेकर सरकार पूरी तरह मुस्तैद: मुख्यमंत्री मनोहर लाल

मुख्यमंत्री ने आज यहां प्रेसवार्ता के दौरान एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि इस योजना में छोटे उद्यमियों को बढ़ावा दिया जा सकता है। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के नये वेरिएंट को लेकर सरकार पूरी तरह मुस्तैद है । इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है और आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय समय पर आवश्यक हिदायतें जारी की जा रही हैं।

चंडीगढ़ । मुख्यमंत्री   मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री स्टार्ट-अप योजना के माध्यम से छोटे व्यवसाय शुरू करने के लिए बैंकों से ऋण मुहैया करवाये जाते हैं इसी तर्ज पर हरियाणा में भी मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना  के माध्यम से गरीब परिवारों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाया जायेगा।

 

मुख्यमंत्री ने आज यहां प्रेसवार्ता के दौरान एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि इस योजना में छोटे उद्यमियों को बढ़ावा दिया जा सकता है। एक अन्य सवाल के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के नये वेरिएंट को लेकर सरकार पूरी तरह मुस्तैद है । इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है और आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा समय समय पर आवश्यक हिदायतें जारी की जा रही हैं। उन्होंने कहा कि गीता जयंती आयोजन को लेकर संबंधित उपायुक्तों को आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किये जा चुके हैं। सरकार द्वारा आवश्यकतानुसार विशेष कदम उठाये जायेंगे।

 

इसे भी पढ़ें: बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ पहल को हरियाणा में बड़ी सफलता, लिंगानुपात में हुई 57 अंकों की वृद्धि

 

एक अन्य जवाब में उन्होंने कहा कि एचपीएससी की भर्ती में बेहतर मैकेनिज्म के लिए जो भी अच्छे सुझाव आयेंगे उन्हें लागू करने पर विचार किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मिशन मेरिट के तहत ग्रुप सी व डी की भर्तियों में इंटरव्यू खत्म किया तथा जिन परिवारों में सरकारी नौकरी नहीं है उन्हें 5 अतिरिक्त अंक देने का निर्णय लिया है इससे प्रदेश के अनेक परिवारों को सीधा लाभ मिला है।

इसे भी पढ़ें: 17 दिसंबर से शुरू होगा हरियाणा विधानसभा का शीतकालीन सत्र, 21 दिसंबर तक चलेगा सेशन

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए कारगर कदम उठाये हैं । किसी भी विभाग या एसएससी में भ्रष्टाचार के बारे में शिकायत मिलती है तो कोई भी उसकी सूचना विजिलेंस या पुलिस को दी जा सकती है। इसके अलावा सिविल कोर्ट में भी इसकी जानकारी दी जा सकती है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।