Bageshwar Sarkar के धीरेंद्र शास्त्री की जान को है खतरा!!! मिली जान से मारने की धमकी

bageshwar dham
Twitter @bageshwardham
रितिका कमठान । Jan 24, 2023 11:42AM
बागेश्वर सरकार के पीठाधीश्वर धीरेंद्र शास्त्री के चचेरे भाई लोकेश गर्ग को फोन पर किसी ने शास्त्री को जान से मारने की धमकी दी है। धमकी मिलने के बाद उन्होंने सीधे पुलिस से संपर्क किया है। इस मामले में एफआईआर भी दर्ज करा ली गई है। पुलिस ने मामले में धारा 506 और 507 के तहत मामला दर्ज किया है।

देश के सुविख्यात कथावाचक और बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को अब जान से मारने की धमकी मिली है। पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के चचेरे भाई लोकेश गर्ग को 22 जनवरी की रात अनजान नंबर से फोन पर धमकी दी गई है। इस फोन कॉल में पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री को जान से मारने की बात कही गई है। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

जानकारी के मुताबिक कॉल करने वाले व्यक्ति ने लोकेश से कहा कि धीरेंद्र से बात कराओ। जब लोकेश ने कहा कि कौन धीरेंद्र, तो जवाब आया धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री। इसके बाद लोकेश ने कहा कि हमारा उनसे बात करा पाना आसान नहीं है। इसके बाद फोन करने वाले युवक ने बताया कि उसका नाम अमर सिंह है और अब धीरेंद्र की तेहरवीं की तैयारी कर लेना। ये कह कर व्यक्ति ने फोन काट दिया।

इस मामले में पुलिस ने धारा 506 और 507 के तहत एफआईआर दर्ज की है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। गौरतलब है कि बागेश्वर धाम के धीरेंद्र शास्त्री इन दिनों विवादों में घिरे हुए है। लगातार उन पर अंध विश्वास फैलाने का आरोप लग रहा है। 

जानें कौन हैं पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री

बागेश्वर धाम के संत पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री जिन्हें लोग बागेश्वर सरकार के नाम से जानते है। बागेश्वर सरकार अपने भक्तों के बीच काफी लोकप्रिय हैं। मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से ताल्लुक रखने वाले बागेश्वर सरकार काफी युवा अवस्था में ही खासी लोकप्रियता हासिल कर चुके है। आलम ये है कि उनके दरबार में अर्जी लेकर आने वाले भक्तों की लंबी लाइनें लगी रहती है।

भागवत कथा का करते हैं वाचन

श्री बाला जी महाराज के मंदिर में बागेश्वर सरकार ने कई बार भागवत कथा का आयोजन किया है। उनके कथा को सुनने के लिए आस पास के इलाकों से कई लोग आते हैं। कथा वाचन के साथ ही उन्होंने अपने धार्मिक ज्ञान एवं शक्तियों को भी जोड़ा। ऐसा करने के साथ ही उनके भक्तों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी। इस जगह को भक्तों ने बागेश्वर धाम बना दिया। 

अन्य न्यूज़