दिल्ली में मंडराया आतंक का साया! प्रतिबंधित आतंकवादी समूह के दो संदिग्ध गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 30, 2020   19:08
दिल्ली में मंडराया आतंक का साया! प्रतिबंधित आतंकवादी समूह के दो संदिग्ध गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के दो संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि उनकी पहचान इंदरजीत सिंह गिल (31) और जसपाल सिंह (27) के रूप में की गयी है।

नयी दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के दो संदिग्ध सदस्यों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि उनकी पहचान इंदरजीत सिंह गिल (31) और जसपाल सिंह (27) के रूप में की गयी है।

इसे भी पढ़ें: जम्मू कश्मीर में मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गये एक पुलिसकर्मी शहीद

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दोनों ने पंजाब के मोगा जिले के उपायुक्त कार्यालय की छत पर स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर कथित रूप से ‘खालिस्तान’ का झंडा फहराया था और परिसर में तिरंगे को फाड़ दिया था। अधिकारी ने कहा कि शनिवार को पुलिस को सूचना मिली कि खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के दो सदस्य ‘‘विदेशों में स्थित अपने कमांडरों के निर्देश पर कुछ देश विरोधी गतिविधियां करने के लिए’’ दिल्ली आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: पाकिस्तान में प्रतिबंधित आतंकवादी समूह के दो आतंकवादी गिरफ्तार

सूचना के बाद जीटी करनाल रोड पर एक मंदिर के पास जाल बिछाया गया। पुलिस उपायुक्त (विशेष प्रकोष्ठ) संजीव कुमार यादव ने कहा कि ‘‘शाम करीब साढ़े छह बजे दो व्यक्ति शनि मंदिर बस स्टैंड के नजदीक खड़े दिखे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पुलिस जब उनके नजदीक पहुंची तो वे एक सर्विस रोड की तरफ जाने लगे। हालांकि, थोड़ी दूर तक पीछा करने के बाद उन्हें पकड़ लिया गया।’’ पूछताछ के दौरान पता चला कि गिल चालक के तौर पर काम करता था। मामले के बारे में पंजाब पुलिस को सूचना दे दी गई है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।