कश्मीरियों पर हमलों से भारतीयता के विचार को सबसे अधिक नुकसान: उमर अब्दुल्ला

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Mar 7 2019 2:50PM
कश्मीरियों पर हमलों से भारतीयता के विचार को सबसे अधिक नुकसान: उमर अब्दुल्ला
Image Source: Google

नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी एक सवाल किया जो लोकसभा में लखनऊ सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने पूछा क्या वह इस मामले में न्याय करने के लिए आगे आएंगे।

श्रीनगर। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने बृहस्पतिवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के लखनऊ में कश्मीर के दो विक्रेताओं पर हमले जैसी घटनाएं जम्मू-कश्मीर में भारतीयता के विचार को किसी भी अन्य चीज से ज्यादा नुकसान पहुंचाएंगी। अब्दुल्ला ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर कहा, “जम्मू कश्मीर में भारतीयता के विचार को इस तरह के वीडियो से बहुत ज्यादा नुकसान होगा। आरएसएस/ बजरंग दल के गुंडों का कश्मीरियों के साथ सड़कों पर इस तरह की मारपीट करते रहना और फिर उसका भारत का ‘अटूट अंग’ होने जैसे विचार को बेचने की कोशिश करना, यह साथ-साथ संभव नहीं।” 



 
पूर्व मुख्यमंत्री उस वीडियो पर प्रतिक्रिया दे रहे थे जिसमें लखनऊ में दो कश्मीरियों के साथ एक समूह मारपीट करते हुए नजर आ रहा है। पुलिस ने इस घटना के संबंध में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है।  अब्दुल्ला ने पूछा, “प्यारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी साहिब, इसी के खिलाफ आपने बोला था और फिर भी यह ज्यों का त्यों जारी है। यह वह राज्य है जिसे आपके द्वारा चुने गए मुख्यमंत्री ने चलाया। क्या हम इस मामले में कार्रवाई की उम्मीद कर सकते हैं या हम आपकी चिंता एवं आश्वासनों को एक जुमला समझें जिसका मकसद दिलासा देने से ज्यादा कुछ नहीं था?” 
 
 
नेशनल कॉन्फ्रेंस नेता ने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से भी एक सवाल किया जो लोकसभा में लखनऊ सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं। उन्होंने पूछा क्या वह इस मामले में न्याय करने के लिए आगे आएंगे। उन्होंने कहा, “जनाब राजनाथ सिंह साहिब। आप लोकसभा में इस सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं, यह वह सीट है जहां से वाजपेयी साब चुने गए थे और आगे जाकर प्रधानमंत्री बने। अगर कोई और आगे नहीं आता और न्याय नहीं करता तो क्या हम उम्मीद कर सकते हैं कि हमले के दोषियों को आप सजा दिलवाएंगे?” 
 


रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप   


Related Video