संप्रग सरकार में राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं दी जाती थी: सीतारमण

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2021   08:18
संप्रग सरकार में राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं दी जाती थी: सीतारमण

तिवारी की पुस्तक पर एक संवाददाता के सवाल का उत्तर देते हुए वित्त मंत्री ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में 2014 से इस प्रकार के निर्णय स्पष्ट उद्देश्य और नेतृत्व के साथ लिए गए।इससे सशस्त्र सेनाओं का मनोबल ऊंचा हुआ और (राष्ट्रीय सुरक्षा के) मुद्दों पर ध्यान दिया गया।”

जम्मू|  कांग्रेस नेता मनीष तिवारी की पुस्तक में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन की तत्कालीन सरकार पर 26/11 के मुंबई हमले की प्रतिक्रिया संबंधी टिप्पणी से उपजे विवाद के बीच केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दावा किया कि 2014 में नरेंद्र मोदी की सरकार बनने से पहले राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर स्पष्ट प्रतिक्रिया नहीं दी जाती थी।

सीतारमण ने कहा कि मोदी सरकार ने सशस्त्र सेनाओं को उचित समय पर उचित निर्णय लेने का पूरा अधिकार प्रदान किया ताकि देश के लोगों को यह दिखाया जा सके कि भारत ऐसी परिस्थिति में किस प्रकार का जवाब देता है।

इसे भी पढ़ें: सीतारमण ने वित्त मंत्रालय में स्वच्छता अभियान का निरीक्षण किया

तिवारी की पुस्तक पर एक संवाददाता के सवाल का उत्तर देते हुए वित्त मंत्री ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में 2014 से इस प्रकार के निर्णय स्पष्ट उद्देश्य और नेतृत्व के साथ लिए गए।इससे सशस्त्र सेनाओं का मनोबल ऊंचा हुआ और (राष्ट्रीय सुरक्षा के) मुद्दों पर ध्यान दिया गया।”

तिवारी ने अपनी नयी पुस्तक ‘10 फ्लैशप्वाइंट्स: 20 ईयर्स’ में 26/11 के मुंबई हमलों पर कार्रवाई को लेकर तत्कालीन कांग्रेस नीत संप्रग सरकार की आलोचना की गयी है। किताब दो दिसंबर को बाजार में आएगी।

इसे भी पढ़ें: सीतारमण ने परिवहन, पेट्रोलियम, इस्पात मंत्रालयों के पूंजी व्यय की समीक्षा की





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।