भारत का ये मदरसा जहां हिंदू बच्चे गुनगुनाते हैं ऊर्दू तराना और मुसलमान संस्कृत के श्लोकों का करते हैं उच्चारण

भारत का ये मदरसा जहां हिंदू बच्चे गुनगुनाते हैं ऊर्दू तराना और मुसलमान संस्कृत के श्लोकों का करते हैं उच्चारण

विकास खंड के रसूलपुर में स्थित मदरसा गुलशन-ए-बगदाद में हिंदू बच्चे उर्दू की तालीम करते नजर आ रहे हैं वहीं मुस्लिम बच्चें संस्कृत के श्लोकों को रट रहे हैं। संस्कृत और उर्दू की तालीम हासिल करने को लेकर यह मदरसा अपने अभिनव प्रयोग को लेकर चर्चा में है।

देशभर में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनआरसी) को लेकर प्रदर्शन जारी है। जिसको लेकर हिन्दू और मुसलमान के बीच दूरी भी पैदा होती नजर आ रही है। लेकिन इन सब से अलग हट के उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में हिंदू-मुस्लिम सद्भाव की मिसाल नजर आ रही है।

इसे भी पढ़ें: सुदेश महतो ने किया वादा, आजसू की सरकार आई तो मदरसों में भी मिलेगा मिड डे मील

विकास खंड के रसूलपुर में स्थित मदरसा गुलशन-ए-बगदाद में हिंदू बच्चे उर्दू की तालीम करते नजर आ रहे हैं वहीं मुस्लिम बच्चें संस्कृत के श्लोकों को रट रहे हैं। संस्कृत और उर्दू की तालीम हासिल करने को लेकर यह मदरसा अपने अभिनव प्रयोग को लेकर चर्चा में है। यहां करीब 230 की संख्या में पढ़ाई करने वाले बच्चों में 30 से अधिक हिंदू बच्चे उर्दू की तालीम ले रहे हैं तो 50 से अधिक मुस्लिम बच्चे भी संस्कृत पाठ कर रहे हैं। इतना ही नहीं, यहां हिंदू-मुस्लिम बच्चे उर्दू-संस्कृत के अलावा फारसी, हिंदी, अंग्रेजी, गणित व विज्ञान जैसे विषयों की शिक्षा भी ले रहे हैं।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।