ये 'हर घर तिरंगा रैली' नहीं, 3.5 साल से अटके रिजल्ट का है विरोध, इंदौर में हजारों की संख्या में PSC दफ्तर के बाहर एकत्रित हुए अभ्यर्थी

Students
Prabhasakshi Image
ओबीसी आरक्षण के लंबित विवाद का निर्णय नहीं आने की वजह से अभ्थार्थियों का रिजल्ट अटका हुआ है। जिसकी वजह से कई अभ्यार्थियों की उम्र सीमा भी पार हो चुकी है। ऐसे में मिनी बॉम्बे कहे जाने वाले इंदौर में हजारों की संख्या में पीएससी अभ्यार्थियों ने साढ़े 3 साल से अटके रिजल्ट को लेकर तिरंगा यात्रा निकाली।

इंदौर। सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के 'हर घर तिरंगा' अभियान को लेकर उत्साह दिखाई दे रहा है। इसी बीच मध्य प्रदेश के इंदौर से एक ऐसा वीडियो सामने आ रहा है जिसमें अभ्यर्थी तिरंगे के साथ मार्च निकाल रहे हैं। लेकिन यह मार्च आजादी के 75वें साल के जश्न के तौर पर नहीं बल्कि साढ़े तीन साल से अटके मध्य प्रदेश लोकसेवा आयोग (पीएससी) की परीक्षाओं के रिजल्ट जारी नहीं होने पर दिखाई दे रहा है।

इसे भी पढ़ें: 'हर घर तिरंगा के प्रति फैलाएं जागरूकता', CM शिवराज बोले- गांवों में निकालें प्रभात फेरियां, महापुरुषों की प्रतिमा को करें साफ 

ओबीसी आरक्षण के लंबित विवाद का निर्णय नहीं आने की वजह से अभ्थर्थियों का रिजल्ट अटका हुआ है। जिसकी वजह से कई अभ्यार्थियों की उम्र सीमा भी पार हो चुकी है। ऐसे में मिनी बॉम्बे कहे जाने वाले इंदौर में हजारों की संख्या में पीएससी अभ्यर्थियों ने साढ़े 3 साल से अटके रिजल्ट को लेकर तिरंगा यात्रा निकाली। अभ्यर्थियों ने तिरंगा यात्रा पीएससी कार्यालय तक निकाली।

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर अभ्यार्थियों के तिरंगा यात्रा का वीडियो जमकर वायरल हो रहा है। जिसमें देखा जा सकता है कि सड़के खचाखच भरी हुई हैं। इस दौरान अभ्यर्थियों ने 'भारत माता की जय और इंकलाब जिंदाबाद' के जमकर नारे लगाए।

आपको बता दें कि राज्य सेवा परीक्षा 2019, 2020 और 2020 के रिजल्ट भी अभी तक लंबित हैं। ऐसे में अभ्यार्थियों का गुस्सा लगातार बढ़ता जा रहा है। ओबीसी आरक्षण पर स्थिति साफ नहीं होने के चलते पीएससी ने परीक्षा का आयोजन तो करा दिया और अभ्यर्थियों ने परीक्षा भी दे दी लेकिन साढ़े तीन साल से अभ्यार्थी इस आस में बैठे हुए हैं कि अब पीएससी के रिजल्ट जारी हो जाएंगे। इस उम्मीद में कई अभ्यर्थियों की उम्र सीमा भी पार हो चुकी है।

घरवालों ने खर्चा देना किया बंद

साले तीन साल से रिजल्ट का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों के घरवालों ने तो अब खर्चा देना भी बंद कर दिया है। क्योंकि ज्यादा अभ्यर्थी मध्यवर्गीय परिवार से ताल्लुक रखते हैं और रिजल्ट है कि जारी होने का नाम ही नहीं ले रहा। ऐसे में कई अभ्यार्थी फिटिकली अनफिट भी हो गए हैं।

इसे भी पढ़ें: MP को मामा 'Heart of India' से बनाना चाहते हैं 'Lungs of India', बोले- हमारी जरा सी लापरवाही के कारण बिजली होती है व्यर्थ 

भंवरकुआ भोलाराम उस्ताद मार्ग से सैकड़ों अभ्यार्थी तिरंगा यात्रा निकालकर पीएससी मुख्यालय का घेराव करने के लिए निकल पड़े। खास बात है कि विद्यार्थियों के घेराव के कारण शुक्रवार को शहर की सभी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करवा रही कोचिंग संस्थानों ने भी छुट्टी घोषित कर दी। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़