ऑनलाइन कंपनी से धोखाधड़ी करने के आरोप में तीन लोग गिरफ्तार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 29, 2021   08:26
ऑनलाइन कंपनी से धोखाधड़ी करने के आरोप में तीन लोग गिरफ्तार

आरोपियों ने धोखाधड़ी करने के तरीके का खुलासा करते हुए पुलिस को बताया कि शुभम एपल कंपनी के मंहगे एयरपॉड्स आर्डर करता था। अंकित से खेप मिलने के बाद शुभम ओरिजनल एयरपॉड्स को नकली से बदल कर आर्डर रद्द कर देता था और इन एयरपॉड्स् को उसे वापस कर देता था।

जबलपुर|मध्यप्रदेश पुलिस ने ऑनलाइन कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट के साथ धोखाधड़ी करने के मामले में रविवार को तीन लोगों को गिरफ्तार किया। आरोपी एपल कंपनी के महंगे ओरिजनल एयरपॉड्स मंगाते थे और फिर आर्डर रद्द कर नकली एयरपॉड्स वापस कर देते थे

नगर पुलिस अधीक्षक अखिलेश गौर ने पीटीआई-को बताया कि तीन लोगों को एपल कंपनी के ओरिजनल एयरपॉड्स को नकली एयरपॉड्स से बदलने के आरोप में गिरफ्तार किया गया।

इसे भी पढ़ें: उच्च न्यायालय ने 36 बाघों की मौत संबंधी याचिका पर केन्द्र व राज्य सरकार को नोटिस जारी किया

 

आरोपियों ने फ्लिपकार्ट कंपनी पर ऑनलाइन बुक कर एपल के एयर पॉड मंगाए बाद में आर्डर रद्द कर नकली एयरपॉड्स वापस कर दिए। उन्होंने कहा कि ऐसे 19 ओरिजनल एयरपॉड्स का सेट शहर की एक मोबाइल दुकान से जब्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि फ्लिपकार्ट के प्रबंधक वीएस सोलंकी की शिकायत पर डिलीवरी करने वाले अंकित रायकवार को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ के दौरान अंकित ने इस मामले में फ्लिपकार्ट के पूर्व कर्मचारी शुभम मिश्रा और एक दुकान मालिक कैलाश आसवानी के शामिल होने का खुलासा किया।

आरोपियों ने धोखाधड़ी करने के तरीके का खुलासा करते हुए पुलिस को बताया कि शुभम एपल कंपनी के मंहगे एयरपॉड्स आर्डर करता था। अंकित से खेप मिलने के बाद शुभम ओरिजनल एयरपॉड्स को नकली से बदल कर आर्डर रद्द कर देता था और इन एयरपॉड्स् को उसे वापस कर देता था।

इसे भी पढ़ें: मध्य प्रदेश में शिकारियों ने करंट लगाकर बाघिन का किया शिकार

इसके बाद शुभम ओरिजनल एयरपॉड्स को मोबाइल के दुकान चलाने वाले कैलाश को बेच देता था। उन्होंने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।