उडुपी महिला कॉलेज हिजाब पहनकर छात्राओं को कक्षाओं में घुसने की अनुमति नहीं देगा

Hijab
उडुपी के विधायक एवं कॉलेज विकास प्राधिकार के अध्यक्ष के. रघुपति भट ने विरोध प्रदर्शन कर रही पांच में से चार छात्राओं के साथ बैठक के उपरांत सोमवार को इस बाबत घोषणा की। भट ने कहा कि जब कक्षाओं में केवल यूनिफॉर्मपहनकर आने की अनुमति है तो छात्राओं को हिजाब पहनकर कक्षाओं में घुसने की इजाजत देना संभव नहीं है।

मंगलुरु (कर्नाटक)| कर्नाटक के उडुपी स्थित सरकारी महिला पीयू कॉलेज ने स्पष्ट तौर पर सूचित कर दिया है कि छात्राओं को ‘हिजाब’ पहनकर कक्षा में घुसने की अनुमति नहीं होगी।

उडुपी के विधायक एवं कॉलेज विकास प्राधिकार के अध्यक्ष के. रघुपति भट ने विरोध प्रदर्शन कर रही पांच में से चार छात्राओं के साथ बैठक के उपरांत सोमवार को इस बाबत घोषणा की। भट ने कहा कि जब कक्षाओं में केवल यूनिफॉर्म पहनकर आने की अनुमति है तो छात्राओं को हिजाब पहनकर कक्षाओं में घुसने की इजाजत देना संभव नहीं है।

लड़कियों के अभिभावकों को भी इस फैसले के बारे में अवगत करा दिया गया है। लड़कियों ने कहा कि वह अपने परिवार के पुरुष सदस्यों से बातचीत करने के बाद ही निर्णय लेंगी।

भट ने कहा कि मंगलवार से छात्राओं को कॉलेज परिसर में किसी तरह की अराजकता फैलाने की अनुमति नहीं होगी।

भट ने कहा कि यह कदम कुछ अन्य छात्राओं के माता-पिताओं की ओर से परीक्षा के नजदीक आने पर शिकायतें मिलने के बाद उठाया गया है और यदि छात्राओं या उनके अभिभावकों को आगे किसी प्रकार की शिकायतें हैं तो उन्हें जिले के उपायुक्त के समक्ष रखेंगे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़