केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की माता का पटना में निधन, ट्वीट कर दी जानकारी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  दिसंबर 25, 2020   17:10
केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद की माता का पटना में निधन, ट्वीट कर दी जानकारी

केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद की मां बिमला प्रसाद का यहां निधन हो गया। केंद्रीय मंत्री प्रसाद ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी देते हुए मां को बेहद धार्मिक और दृढ संकल्प वाली महिला के तौर पर याद किया।

पटना। केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ भाजपा नेता रविशंकर प्रसाद की मां बिमला प्रसाद का यहां निधन हो गया। केंद्रीय मंत्री प्रसाद ने शुक्रवार को ट्वीट कर यह जानकारी देते हुए मां को बेहद धार्मिक और दृढ संकल्प वाली महिला के तौर पर याद किया। प्रसाद ने ट्वीट कर कहा ‘‘ मेरी मां बिमला प्रसाद कल रात स्वर्ग सिधार गयीं। वह कुछ समय से बीमार थीं। मेरी मां बेहद धार्मिक और दृढ़ संकल्प वाली महिला थीं। वह शुरुआत से ही पार्टी की समर्थक रहीं।उन्होंने महिला स्वयंसेवक के तौर पर बिहार में जेपी आंदोलनमें हिस्सा लिया था।’’

इसे भी पढ़ें: राजनाथ सिंह ने किसानों ने कहा- बातचीत के लिए आगे आएं, सरकार हरसंभव संशोधन के लिए तैयार

प्रसाद ने मां के साथ अपनी तस्वीरें भी साझा की। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, ‘‘ मुझे स्मरण आता है कि अटलजी, दीनदयाल जी और नानाजी देशमख ने पटना की अपनी यात्रा के दौरान उनके हाथों के बने भोजनऔर आतिथ्य का आनंद लिया। वह मेरी प्रेरणा स्रोत थीं और मेरे जीवन की समस्त उपलब्धियां उन्हीं के आशीर्वाद की देन है।’’ प्रसाद के पिता ठाकुर प्रसाद जनसंघ के बहुत बड़े नेता थे और वह 1970 के दशक में जनता पार्टी सरकार में मंत्री रहे। बिहार के राज्यपाल फागू चौहान एवं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्री की मां के निधन पर शोक प्रकट किया है। कुमार ने प्रसाद को फोन कर उन्हें सात्वंना दी। परिवार के सूत्रों के अनुसार 90 वर्षीय बिमला प्रसाद ने बृहस्पतिवार रात को एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।