केरल में कोरोना का कहर बरपा, मुरलीधरन ने विजयन सरकार को ठहराया जिम्मेदार, कहा- सही कदम उठाएं

केरल में कोरोना का कहर बरपा, मुरलीधरन ने विजयन सरकार को ठहराया जिम्मेदार, कहा- सही कदम उठाएं

केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन ने मौजूदा हालात के लिए केरल की पी विजयन सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों पर आरोप लगाने की जगह सही कदम उठाने चाहिए। दरअसल, लगातार तीसरे दिन नए मामलों की संख्या 30 हजार से ज्यादा रही।

नयी दिल्ली। कोरोना वायरस संक्रमण ने भारत समेत पूरी दुनिया में हाहाकार मचाया हुआ था। दूसरी लहर थम गई है लेकिन केरल को देखकर ऐसा प्रतीत नहीं होता है। आपको बता दें कि केरल में कोरोना कहर बरपा रहा है। लगातार तीसरे दिन नए मामलों की संख्या 30 हजार से ज्यादा रही। शुक्रवार को कोरोना के 32,801 नए मामले सामने आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या बढ़कर 39.45 लाख हो गई। 

इसे भी पढ़ें: डेल्टा स्वरूप से संक्रमित मरीजों के अस्पताल में भर्ती होने की अशंका दोगुनी 

विजयन सरकार पर बरसे मुरलीधरन 

वहीं, प्रदेश में पिछले 24 घंटों में 179 और मरीजों की मौत हो गई जिसके बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 20,313 हो गई। इसी बीच केंद्रीय मंत्री वी. मुरलीधरन ने मौजूदा हालात के लिए केरल की पी विजयन सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि सरकार को लोगों पर आरोप लगाने की जगह सही कदम उठाने चाहिए।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केरल में कोरोना वायरस के मामलों में हो रही बढ़ोतरी के लिए राज्य सरकार अपनी नाकामियों की पहचान करने की बजाय लोगों पर आरोप लगाने की कोशिश कर रही है। 

इसे भी पढ़ें: एक दिन में एक करोड़ से अधिक कोविड-19 टीकों की खुराक दिया जाना महत्वपूर्ण उपलब्धि: पीएम मोदी

रविवार को जारी रहेगा लॉकडाउन

प्राप्त जानकारी के मुताबिक पी विजयन सरकार ने रविवार को लॉकडाउन जारी रखने का फैसला लिया है। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच विपक्षी दलों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों की आलोचना झेल रही पी विजयन सरकार ने इस आदेश को जारी किया। उन्होंने कहा कि रविवार को महज कुछ ही गतिविधियों की इजाजत होगी।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।