हिरासत में लेते ही नारायण राणे का बढ़ा ब्लड प्रेशर, जेपी नड्डा बोले- ऐसी कार्रवाई से न हम डरेंगे, न दबेंगे

Narayan Rane BJP
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नारायण राणे की गिरफ्तारी को संवैधानिक मूल्यों का हनन बताया। उन्होंने ट्वीट किया कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा केंद्रीय मंत्री नारायण राणे जी की गिरफ़्तारी संवैधानिक मूल्यों का हनन है।

मुंबई। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को थप्पड़ मारने संबंधी टिप्पणी को लेकर केंद्रीय मंत्री नारायण राणे को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। जिसकी वजह से उनका ब्लड प्रेशर बढ़ गया और डॉक्टर ने उन्हें अस्पताल में भर्ती होने के लिए कहा है। शुरुआती खबरों के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने ब्लड प्रेशर के साथ ही शुगर लेवल बढ़ने की भी शिकायत दर्ज करायी थी। 

इसे भी पढ़ें: शिवसेना सांसद ने पीएम मोदी को लिखा पत्र, नारायण राणे को बर्खास्त करने की मांग की 

नड्डा ने संवैधानिक मूल्यों का बताया हनन

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नारायण राणे की गिरफ्तारी को संवैधानिक मूल्यों का हनन बताया। उन्होंने ट्वीट किया कि महाराष्ट्र सरकार द्वारा केंद्रीय मंत्री नारायण राणे जी की गिरफ़्तारी संवैधानिक मूल्यों का हनन है। इस तरह की कार्रवाई से न तो हम डरेंगे, न दबेंगे। भाजपा को जन-आशीर्वाद यात्रा में मिल रहे अपार समर्थन से ये लोग परेशान है। हम लोकतांत्रिक ढंग से लड़ते रहेंगे, यात्रा जारी रहेंगी।

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि नारायण राणे को रत्नागिरी जिले में पुलिस ने हिरासत में लिया, जहां वह जन आशीर्वाद यात्रा के तहत दौरे पर थे। अधिकारी ने बताया कि हिरासत में लेने के बाद राणे को संगमेश्वर थाना ले जाया गया। 

इसे भी पढ़ें: उद्धव ठाकरे पर कथित टिप्पणी करने वाले नारायण राणे को पुलिस ने हिरासत में लिया 

क्या है पूरा मामला ?

रायगढ़ जिले में सोमवार को जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान नारायण राणे ने कहा था कि यह शर्मनाक है कि मुख्यमंत्री को यह नहीं पता कि आजादी को कितने साल हुए हैं। भाषण के दौरान वह पीछे मुड़ कर इस बारे में पूछते नजर आए थे। अगर मैं वहां होता तो उन्हें एक जोरदार थप्पड़ मारता।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़