गांधी प्रतिमा के सामने निलंबित सांसदों का 50 घंटों का धरना, प्रह्लाद जोशी बोले- आपके व्यवहार को देख रही है जनता, यह ठीक नहीं

Pralhad Joshi
ANI Image
केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि गलती करने वाले अगर गलती को स्वीकार कर माफी मांगते हैं तो वे बड़े हो जाते हैं। लेकिन वे ऐसे अहंकार प्रदर्शन करेंगे तो हम क्या कर सकते हैं। हमें आपके स्वास्थ की चिंता है... इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप सुबह से शाम तक विरोध कीजिए।

नयी दिल्ली। संसद से निलंबित सभी विपक्षी सांसदों ने गांधी प्रतिमा के समक्ष 50 घंटे का धरना प्रदर्शन शुरू किया है। आपको बता दें कि सभी विपक्षी दलों ने निलंबित 20 राज्यसभा सांसदों और 4 लोकसभा सांसदों के प्रति एकजुटता जाहिर की है। ऐसे में निलंबन वापस लेने तक 50 घंटे तक दिन-रात धरना जारी रहेगा। इसी बीच केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने सांसदों के स्वास्थ्य के प्रति चिंता व्यक्त की।

इसे भी पढ़ें: क्या विपक्षी सांसदों का निलंबन होगा वापस ? संजय सिंह भी हुए निलंबित, अगले हफ्ते हो सकती है महंगाई पर चर्चा

जनता देख रही सदस्यों का व्यवहार !

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि गलती करने वाले अगर गलती को स्वीकार कर माफी मांगते हैं तो वे बड़े हो जाते हैं। लेकिन वे ऐसे अहंकार प्रदर्शन करेंगे तो हम क्या कर सकते हैं। हमें आपके स्वास्थ की चिंता है... इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप सुबह से शाम तक विरोध कीजिए लेकिन शाम को अपने घर में चले जाइए। जब सरकार चर्चा के लिए तैयार थी तब आपने जो व्यवहार किया, उसे जनता देख रही है। यह ठीक नहीं है।

इसे भी पढ़ें: पुलिस डिटेंशन सेंटर में कांग्रेस संसदीय दल की बैठक, हिरासत में लिए गए नेताओं ने GST, मूल्य वृद्धि समेत तमाम मुद्दों पर की विस्तृत चर्चा

अगले सप्ताह महंगाई पर चर्चा की संभावना

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, सरकार ने ऐसे संकेत दिए हैं कि वह संसद में अगले सप्ताह महंगाई के मुद्दे पर चर्चा शुरू करा सकती है। सूत्रों ने यह भी कहा कि सरकार सेना में भर्ती की अग्निपथ योजना पर चर्चा को लेकर तैयार नहीं दिखती और इस आधार पर चर्चा कराने से इनकार कर सकती है कि यह मामला न्यायालय के विचाराधीन है। सूत्रों का कहना है कि विपक्षी दलों के नेताओं ने सरकार को इस बात से अवगत करा दिया है कि महंगाई पर तब तक कोई चर्चा नहीं होने दी जाएगी जब तक दोनों सदनों के निलंबित सदस्यों का निलंबन वापस नहीं ले लिया जाता।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़