मध्य प्रदेश में मौसम ने बदले तेवर, राजधानी भोपाल सहित कई जिलों में ठिठुरन भरी ठंड

मध्य प्रदेश में मौसम ने बदले तेवर, राजधानी भोपाल सहित कई जिलों में ठिठुरन भरी ठंड

इस सप्ताह भोपाल, इंदौर, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद, जबलपुर, सतना, रीवा, खजुराहो, ग्वालियर, गुना समेत समूचे मध्य प्रदेश में मौसम पूरी तरह से शुष्क और साफ रहने की संभावना है। सुबह और रात में धुंध या कुहासा दिखाई दे सकता है लेकिन दिन में खिली धूप के चलते मौसम बेहद खुशनुमा होगा।

भोपाल। दक्षिण भारत पर आए चक्रवाती तूफान निवार के प्रभाव से मध्य प्रदेश के पूर्वी तथा दक्षिणी जिलों में पिछले 2 दिनों के दौरान हल्की से मध्यम वर्षा की गतिविधियां देखी गई थी। अब इस तूफान का प्रभाव समाप्त हो जाएगा परंतु पूर्वी तथा मध्य जिलों में बादल छाए रह सकते हैं। वहींं,  राजधानी भोपाल में ठिठुरन बढने से लोग घरों से बाहर निकलने में परहेज कर रहे हैं। लोगों को दिन के समय ठंडी हवा चलने से तेज सर्दी का एहसास हो रहा है। लोग घरों से निकलने से पहले गर्म कपड़े पहन रहे हैं। 

इसे भी पढ़ें: ओरछा के श्रीराम राजा का विवाह महोत्सव कोरोना गाइडलाइन के अनुसार तीन दिन चलेगा श्रीराम विवाह महोत्सव

वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक पी.के. साहा ने  जानकारी देते हुए बताया कि पश्चिमी जिलों में न्यूनतम तापमान में धीरे-धीरे गिरावट भी होगी क्योंकि उत्तर भारत के पहाड़ों से ठंडी हवाएँ मध्य प्रदेश के अधिकांश जिलों पर पहुँचेगी। पूर्वी जिलों के तापमान में भी 29 नवंबर से धीरे-धीरे कमी आएगी तथा सुबह और रात की सर्दी बढ़ जाएगी। उन्‍होंने बताया, इस सप्ताह भोपाल, इंदौर, उज्जैन, देवास, होशंगाबाद, जबलपुर, सतना, रीवा, खजुराहो, ग्वालियर, गुना समेत समूचे मध्य प्रदेश में मौसम पूरी तरह से शुष्क और साफ रहने की संभावना है। सुबह और रात में धुंध या कुहासा दिखाई दे सकता है लेकिन दिन में खिली धूप के चलते मौसम बेहद खुशनुमा होगा।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।