कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश में जारी रहेगा सप्ताहिक पाबंदी

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच उत्तर प्रदेश में जारी रहेगा सप्ताहिक पाबंदी

मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा है कि कोरोनावायरस से मामलों को देखते हुए सप्ताहिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाएगा। इसके लिए उत्तर प्रदेश में बाजारों की साप्ताहिक बंदी शनिवार और रविवार ही रहेगी। इन 2 दिनों में स्वच्छता, सैनिटाइजर एवं फॉगिंग का विशेष अभियान चलाया जाएगा।

देश में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे है। उत्तर प्रदेश में भी इस वक्त हर रोज लगभग 5000 नए मामले सामने आ रहे है। ऐसे में यह सवाल लगतार उठ रहा है कि क्या एक बार फिर से उत्तर प्रदेश में लॉकडाउन लगाया जाएगा? इसको लेकर सरकार की ओर से अब स्पष्टीकरण आ गया है। मुख्यमंत्री ने साफ तौर पर कहा है कि कोरोनावायरस से मामलों को देखते हुए सप्ताहिक लॉकडाउन को सख्ती से लागू किया जाएगा। इसके लिए उत्तर प्रदेश में बाजारों की साप्ताहिक बंदी शनिवार और रविवार ही रहेगी। इन 2 दिनों में स्वच्छता, सैनिटाइजर एवं फॉगिंग का विशेष अभियान चलाया जाएगा। सरकार का साफ तौर पर मानना है कि इन कामों से कोरोनावायरस चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी। हालांकि फिलहाल देखा जाए तो उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस के लगातार बढ़ रहे है।

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में लॉकडाउन का सख्ती से पालन, कुछ जिलों में उल्लंघन के मामले आए सामने

सरकार की ओर से यह भी कह दिया गया है कि सितंबर के अंतिम सप्ताह तक प्रदेश में सार्वजनिक जगह पर किसी भी धार्मिक या फिर सांस्कृतिक कार्यक्रम को करने की इजाजत दी जाएगी। सप्ताहिक बंद के दौरान सभी बाजारों, कार्यालयों, रिस्तरा आदि को बंद रखा जाएगा। जबकि आवश्यक सेवाएं, शराब की दुकान, सब्जी और फल मंडियां चलती रहेंगी। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान कोविड-19 के 5,463 नये मामले सामने आये हैं जबकि 76 और मरीजों की मौत के साथ बृहस्पतिवार को मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 3,217 हो गया। अपर मुख्य सचिव (गृह एवं सूचना) अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया,“बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 5,463 नये मामले सामने आये हैं, वहीं प्रदेश में कुल 1,52,893 लोगों को इलाज के बाद पूर्णतया ठीक होने पर अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है।

इसे भी पढ़ें: Unlock 3 के 27वें दिन केंद्र ने फिर की समीक्षा बैठक, मौतों के सर्वाधिक मामलों वाले राज्यों पर ध्यान

अवस्थी ने बताया कि विभिन्न अस्पतालों में 52,309 मरीजों का उपचार चल रहा है जबकि कोरोना संक्रमण से अब तक 3,217 लोगों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 2,08,419 हो चुकी है। उन्होंने बताया कि अस्पतालों से छुट्टी पाने वालों का प्रतिशत 73.19 है जबकि मृत्यु-दर 1.54 प्रतिशत है। सीएम ने अधिकारियों को लखनऊ, कानपुर नगर, शाहजहांपुर और गोरखपुर जैसे जिलों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए और इन जिलों में स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए कहा। गुरुवार को, लखनऊ में 792 मामले, कानपुर 281, शाहजहांपुर 67 और गोरखपुर 232 दर्ज किए गए। लखनऊ और कानपुर में कुल मिलाकर अब तक के कुल कोविड मामलों का 18% से अधिक हिस्सा है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।