नादिया गैंगरेप और हत्या में सामने आया CM का बयान तो भाजपा सांसद ने जताया दुख, जानिए ममता बनर्जी ने ऐसा क्या कहा ?

Mamata Banerjee
प्रतिरूप फोटो
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि घटना के 5 दिन बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत क्यों दर्ज कराई ? मुख्यमंत्री ने यह भी सवाल किया कि आरोपी के पिता की राजनीतिक पहचान को क्यों बढ़ाया जा रहा है। विश्वबंगला मेला परिसर में मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि लड़की की मृत्यु 5 तारीख को हुई थी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के हंसखाली में एक नाबालिग के साथ गैंगरेप का मामला सामने आया। इस मामले में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के नेता के बेटों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आपको बता दें कि गैंगरेप की घटना के बाद लड़की की मौत हो गई है। जिसको लेकर सीबीआई जांच की मांग उठने लगी है। इस संबंध में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का बयान सामने आया है। 

इसे भी पढ़ें: नकली दवाओं की जांच के लिए बंगाल में स्थापित होगी प्रयोगशाला: ममता बनर्जी 

स्थानीय रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि घटना के 5 दिन बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस में शिकायत क्यों दर्ज कराई ? मुख्यमंत्री ने यह भी सवाल किया कि आरोपी के पिता की राजनीतिक पहचान को क्यों बढ़ाया जा रहा है। विश्वबंगला मेला परिसर में मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि लड़की की मृत्यु 5 तारीख को हुई थी। 10 तारीख को शिकायत की गई थी। अगर किसी को कोई शिकायत है तो आपने 5 तारीख को शिकायत क्यों नहीं की ?

इसके साथ ही मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि पीड़ित के शव को बिना किसी को बताए जला दिया गया है। पुलिस अब कैसे जांच करेगी ? मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि लड़की का प्रेम प्रसंग था। यह बात घर के लोगों को पता थी। यह बात पड़ोसियों को भी पता थी। अब अगर कोई बच्चे प्यार करते हैं तो उसे रोक पाना मेरे लिए मुमकिन नहीं है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि बाल आयोग हंसखाली नाबालिग गैंगरेप और हत्या मामले की जांच करेगा।

मुख्यमंत्री बनर्जी ने कहा कि गलत करने वालों को सजा मिलेगी। आरोपी को बिना कोई राजनीतिक रंग देखे हुए गिरफ्तार कर लिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: बीरभूम हिंसा: CBI का बड़ा एक्शन, मुंबई से 4 लोगों को किया गिरफ्तार 

भाजपा सांसद ने जताया दुख भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने मुख्यमंत्री बनर्जी के बयान पर दुख जताया। उन्होंने कहा कि यह बहुत दुख की बात है कि वो एक महिला मुख्यमंत्री के रूप में ऐसा कह रही हैं। मुझे शर्म आती है। ऐसी घटनाएं पश्चिम बंगाल के अलावा कहीं नहीं होती हैं। अगर ऐसा होता है तो सजा मिलती है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़