सुशील मोदी ने पीएम मोदी को लेकर ऐसा क्या दावा कर दिया, जिसे सुन लोगों ने बवाल काट दिया

सुशील मोदी ने पीएम मोदी को लेकर ऐसा क्या दावा कर दिया, जिसे सुन लोगों ने बवाल काट दिया

सुशील मोदी एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां पर मौजूद लोगों को शायद ही यह मालूम होगी कि पीएम मोदी 13 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री थे। गुजरात के मुख्यमंत्री से सीधे वह देश के प्रधान मंत्री बने। सुशील मोदी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ऐसे अकेले नेता हैं।

लोकसभा चुनाव 2014 में करीब दो साल का वक्त शेष था, बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के चेहरे के रूप में पार्टी के भीतर से ही कई धरों के द्वारा गुजरात के सीएम नरेंद्र मोदी को लेकर स्वर उठ रहे थे जिसमें बिहार के कुछ नेताओं की आवाजे भी शामिल थी। गिरिराज सिंह और अश्विनी चौबे सरीखे नेता खुलकर नरेंद्र मोदी को पीएम पद का उम्मीदवार बनाने के पक्ष में माहौल बना रहे थे। तमाम उठती आवाजों के बीच बिहार बीजेपी के बड़े नेता ने सितंबर 2012 में एक अखबार को दिए इंटरव्यू में दो टूक कहा- नीतीश में एक बेहतर प्रधानमंत्री बनने की सभी खूबियां हैं। वक्त बदल गया है और हालात बदल गए हैं। अब सुशील मोदी नीतीश कुमार को कोरोना की दूसरी लहर के दौरान राजधर्म का पाठ पढ़ाते नजर रहे हैं और पीएम मोदी के शान में कसीदे पढ़ने में इतने मशगूल हो गए हैं कि तथ्यातमक से गलत थ्योरी देकर अपनी किरकिरी करा दी। 

क्या कहा सुशील मोदी ने ? 

उन्होंने कह दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश की ऐसी पहली शख्सियत हैं जो मुख्यमंत्री रहने के साथ-साथ देश के प्रदानमंत्री भी हैं। बता दें कि सुशील मोदी एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि यहां पर मौजूद लोगों को शायद ही यह मालूम होगी कि पीएम मोदी 13 साल तक गुजरात के मुख्यमंत्री थे। गुजरात के मुख्यमंत्री से सीधे वह देश के प्रधान मंत्री बने। सुशील मोदी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ऐसे अकेले नेता हैं। सुशील मोदी ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री रहते हुए नरेंद्र मोदी ने गुजरात को नई ऊंचाइयां दी। अब वे प्रधानमंत्री हैं तो पूरी दुनिया में भारत का डंका बज रहा है। सुशील मोदी ने कार्यक्रम में बोलने के बाद ट्विटर पर भी यही बातें लिखी। ट्वीट में लिखा गया कि 'आजादी के बाद अकेले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी हैं जो मुख्यमंत्री भी रहे और प्रधानमंत्री भी हैं।' 

जानकारी पर उठने लगे सवाल

इसके बाद तो एक से बढ़कर एक जवाब आने का सिलसिला शुरू हो गया। सबूत और नाम के साथ लोगों ने रिप्लाई किया। किसी ने उनसे गलती सुधारने की गुजारिश की तो किसी ने उन्हें व्हाट्सअप यूनिर्सिटी वाला ज्ञान बताया। इसके साथ ही उन्होंने पीएम मोदी से पहले पांच मुख्यमंत्रियों के नाम गिनवाने लगे जो बाद में प्रधानमंत्री बने।

इसे भी पढ़ें: भाजपा को झटका दे सकती हैं लॉकेट चटर्जी, लंबे समय से चल रहीं नाराज, TMC नेता कुणाल घोष बोले- प्रचार नहीं करने के लिए धन्यवाद

नरेंद्र मोदी छठे सीएम जो बने पीएम

गौरतलब है कि पीएम मोदी छठे ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो पहले मुख्यमंत्री रह चुके हैं। इससे पहले 1952 में मोरारजी देसाई बंबई स्टेट के मुख्यमंत्री रहे। 1970 में चौधरी चरण सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहने के बाद प्रधानमंत्री रहे। 1980 में वीपी सिंह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे और बाद में प्रधानमंत्री रहे। पीवी नरसिम्हा राव और एडची देवगौड़ा भी आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के क्रमश: मुख्यमंत्री रहने के बाद देश के प्रधानमंत्री बने। नरेंद्र मोदी 2014 में पीएम बनने से पहले गुजरात के मुख्यमंत्री थे। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।