Prabhasakshi's Newsroom। तालिबान को लेकर क्या है भारत का स्टैंड? वेब पोर्टल के बारे में क्या सोचते हैं कश्मीरी?

Prabhasakshi's Newsroom। तालिबान को लेकर क्या है भारत का स्टैंड? वेब पोर्टल के बारे में क्या सोचते हैं कश्मीरी?

अफगानिस्‍तान पर तालिबान के राज के बाद भारत ने दोहा में तालिबानी नेता से मुलाकात की। उनकी इस मुलाकात को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर तंज कसा है।

नयी दिल्ली। अफगानिस्तान पर तालिबान का राज है। इसी बीच दोहा में भारत के दूत ने तालिबानी नेता से मुलाकात की। इस मुलाकात को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर तंज कसा है। हम बात औद्योगिक वेब पोर्टल की भी करेंगे। जिसके माध्यम से केंद्रशासित प्रदेश के लिए निवेश बढ़ाने की बात कही जा रही है और अंत में हम चर्चा करेंगे गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किए जाने के फैसले की। जिसका मौलवी ने स्वागत किया। 

इसे भी पढ़ें: अफगानिस्तान में रेस्क्यू मिशन कामयाब होने के बाद अमेरिकी सैनिकों ने बताया आखिरी मंजर 

ओवैसी का सरकार को तंज

अफगानिस्‍तान पर तालिबान के राज के बाद भारत ने दोहा में तालिबानी नेता से मुलाकात की। उनकी इस मुलाकात को लेकर असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि तालिबान के बारे में मोदी सरकार का पोजिशन क्या है ? वे आतंकवादी हैं या नहीं हैं ? भारत अगर तालिबान को आतंकवादी मानता है तो क्या उनको यूएपीए की लिस्ट में शामिल करेगा ?

औद्योगिक वेब पोर्टल से बढ़ेगा निवेश

जम्मू-कश्मीर के बदलते हालात के बीच निवेश को सरल बनाने के लिए उद्योग और वाणिज्य विभाग की ओर से वेब पोर्टल जारी किया गया। इस पोर्टल को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लॉन्च किया है। वहीं केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के औद्योगिक विकास की खातिर केंद्रीय क्षेत्र की योजना इस केंद्रशासित प्रदेश को आत्मनिर्भर बनाने और विकास को गति देने के अलावा लाखों लोगों के लिए रोजगार के सृजन में मदद करेगी। इससे व्यापार इकाइयों को निवेश करने के लिए बढ़ावा मिलेगा। गोयल ने कहा कि पोर्टल व्यापार करने में आसानी को और सुधारेगा तथा चौतरफा पारदर्शिता लाएगा। लेकिन इस पोर्टल को लेकर कश्मीर की जनता का क्या सोचती है? 

इसे भी पढ़ें: तालिबान के साथ मुलाकात को लेकर ओवैसी का मोदी सरकार पर तंज, बोले- पास आते भी नहीं, चिलमन से हटते भी नहीं 

गाय को राष्ट्रीय पशु किया जाए घोषित

इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने गोहत्या के एक मामले में कहा कि गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाए और गौरक्षा को हिंदुओं के मौलिक अधिकार में रखा जाए क्योंकि जब देश की संस्कृति और उसकी आस्था पर चोट होती है तो देश कमजोर होता है। न्यायमूर्ति शेखर कुमार यादव ने याचिकाकर्ता जावेद की जमानत याचिका खारिज करते हुए यह टिप्पणी की।

जावेद पर आरोप है कि उसने अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर वादी खिलेंद्र सिंह की गाय चुराई और उसका वध कर दिया। याचिकाकर्ता के वकील ने दलील दी कि जावेद निर्दोष है और उस पर लगाए गए आरोप झूठे हैं और उसके खिलाफ पुलिस से मिलकर झूठा मुकदमा दर्ज कराया गया है।

वहीं, इलाहाबाद उच्च न्यायालय द्वारा गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने के फैसले का मौलवी ने स्वागत किया। 

इसे भी पढ़ें: तालिबान के पंजशीर के कई इलाकों पर कब्जा करने का दावा, नॉर्दन एलायंस ने रास्ता किया ब्लॉक 

गैस के दाम को लेकर विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है। इसी बीच कांग्रेस नेता ने डॉ मनमोहन सिंह जी की सरकार के समय जब रसोई गैस सिलेंडर की कीमत 400 रुपए थी तो भाजपा नेता सड़कों पर आ कर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे लेकिन आज घरेलू गैस की कीमत 900 रुपये के करीब पहुंच गई है।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।