ममता की गाड़ी लड़खड़ाई तो स्मृति ईरानी ने स्कूटी चलाकर बताया, ड्राइविंग सीट पर हम ही बैठेंगे

  •  अभिनय आकाश
  •  फरवरी 26, 2021   18:35
  • Like
ममता की गाड़ी लड़खड़ाई तो स्मृति ईरानी ने स्कूटी चलाकर बताया, ड्राइविंग सीट पर हम ही बैठेंगे

बीजेपी की ओर से बंगाल के पंचकोटा इलाके में एक रोड शो को संबोधित कर रही थीं। इस दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने स्कूटर पर सवार होकर अपनी पार्टी की एक रैली की अगुवाई की।

पश्चिम बंगाल में चुनाव की घोषणा हो गई है। आठ चरणों में होने वाले चुनाव के लिए राजनीतिक बयानबाजी और चुनावी स्टंट भी अपने जोरों पर है। पेट्रोल और डीजल की बढ़ी कीमतों को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इलेक्ट्रॉनिक स्कूटर चलाने का प्रयास किया। लेकिन इन कोशिश में वो डगमगाईं और गिरते-गिरते बचीं। सुरक्षाकर्मियों ने ममता बनर्जी को गिरने से बचाया। वहीं अब राज्य में स्कूटर की सवारी को लेकर सियासत भी जोर पकड़ने लगी। आज केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी भी स्कूटी की सवारी करती नजर आईं। वे बीजेपी की ओर से बंगाल के पंचकोटा इलाके में एक रोड शो को संबोधित कर रही थीं। इस दौरान केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने स्कूटर पर सवार होकर अपनी पार्टी की एक रैली की अगुवाई की। साथ ही ये संदेश देने की कोशिश की कि ममता दीदी तो स्कूटर चलाने में लड़खड़ा गईं, राज्य की ड्राइविंग सीट पर हम बैठने के लिए उपयुक्त हैं।

स्मृति ईरानी ने स्कूटर पर सवार होकर रैली की अगुवाई की

पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले में विधानसभा चुनाव के वास्ते भाजपा के पक्ष में प्रचार करते हुए भाजपा की राज्यव्यापी ‘परिवर्तन यात्रा’ में हिस्सा लेते हुए गरिया के समीप गंगाजोआरा में ईरानी ने भाजपा सांसद रूपा गांगुली एवं अग्निमित्रा पॉल के साथ पार्टी के रथ पर सवार होकर अभियान की शुरुआत की। कुछ दूर जाने के बाद वह रथ से उतर गयीं और स्कूटर पर सवार हो गयीं। उन्होंने काला हेलमेट पहन रखा था और मास्क लगाए थीं। ईरानी ने कहा, ‘‘आज जब हमने रथयात्रा शुरू की तब प्रशासन ने जानबूझकर उसमें देरी करने का प्रयास किया। हम दो पहिया वाहन चलाकर जायेंगे, पैदल चलेंगे क्योंकि पश्चिम बंगाल बदलाव की ओर अग्रसर है। ’’ मंत्री के इस करतब से उत्साहित कई भाजपा कार्यकर्ता दोपहिया वाहनों पर सवार होकर चलने लगे और ‘‘जय श्री राम’’ एवं ‘‘खेला होबे’’के नारे लगाने लगे। 

ममता भी स्कूटी पर दिखी थी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि के खिलाफ अनोखे तरीके से विरोध दर्ज कराया। वह इलेक्ट्रिक स्कूटर पर बैठकर राज्य सचिवालय ‘नबान्न’ पहुंचीं और वापसी का सफर भी इसी वाहन से किया। सुबह ममता जब कार्यालय गईं तो स्कूटर राज्य सरकार में मंत्री एवं कोलकाता के महापौर फिरहद हकीम चला रहे थे और वह पीछे बैठी थीं। वहीं, दोपहर में तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष स्वयं ई-स्कूटर चलाकर राज्य सचिवालय से कालीघाट इलाके स्थित अपने आवास गईं। सुबह स्कूटर पर सवार ममता बनर्जी ने गले में तख्ती टांग रखी थी, जिसपर ईंधन के दाम में वृद्धि के खिलाफ नारे लिखे थे, उन्होंने हेलमेट पहन रखा था। उन्होंने हाजरा मोड़ से राज्य सचिवालय के बीच सात किलोमीटर का सफर स्कूटर पर तय करते हुए सड़क के दोनों ओर चल रहे लोगों का हाथ हिलाकर अभिवादन किया।





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept