शिव, राम, कृष्ण के प्रेम से पला प्रदेश, काशी-मथुरा वाराणसी में शुरुआती रूझानों में किसे मिला जनादेश, विधानसभा सीट पर नतीजों से जुड़ी हर अपडेट

Kashi Mathura Varanasi
अभिनय आकाश । Mar 10, 2022 11:42AM
धर्म नगरी के नाम से मशहूर मथुरा में विधानसभा की पांच सीटें आती हैं। जबकि शिव की नगरी काशी में विधानसभा की आठ सीटें आती हैं। आइए जानते हैं मथुरा, काशी और वाराणसी में कौन आगे है और कौन पीछे।

उत्तर प्रदेश चुनाव में वोटों की गिनती जारी है। शुरुआती रूझानों में बीजेपी ने जबरदस्त बढ़त बनाई हुई है। शिव, राम, कृष्ण के प्रेम से पला प्रदेश काशी, मथुरा और वाराणसी में किसे मिल रहा जनादेश। उत्तर प्रदेश की हाईप्रोफाइल सीटों में से है श्रीराम की नगरी अयोध्या जिसके अंतर्रगत पांच विधानसभा सीटें आती हैं। धर्म नगरी के नाम से मशहूर मथुरा में विधानसभा की पांच सीटें आती हैं। जबकि शिव की नगरी काशी में विधानसभा की आठ सीटें आती हैं। आइए जानते हैं मथुरा, काशी और वाराणसी में कौन आगे है और कौन पीछे।

श्रीराम नगरी अयोध्या

अयोध्या देश के लिए आस्था का एक बड़ा केंद्र रहा है और बीजेपी के लिए नाक का सवाल भी।  वैसे तो राम मंदिर आंदोलन 1991 से शुरू हुआ लेकिन आदिकाल से ही लोगों इसे महाराजा दशरथ पुत्र राम जी की नगरी मानकर पूजते रहे हैं। अयोध्या विधानसभा सीट उत्तर प्रदेश की महत्वपूर्ण विधानसभा सीट मानी जाती है। पांच विधानसभा सीटों में अयोध्या शहर सीट, दरियाबाद सीट, रुदौली सीट , मिल्कीपुर सीट, बीकापुर सीट आते हैं। 2017 में बीजेपी की लहर के आगे सारी पार्टियों ने घुटने टेक दिए और एक बार फिर अयोध्या जिले में आने वाली पांच विधानसभाओं पर बीजेपी ने फिर अपना कब्जा जमाया था। इस बार अयोध्या की 5 में से 4 सीटों पर बीजेपी आगे चल रही है वहीं एक सीट गोसाईगंज पर सपा आगे है।

इसे भी पढ़ें: अखिलेश से आजम तक, शुरुआती रूझानों में कौन आगे, कौन पीछे, जानें सीटों का पूरा लेखा-जोखा

कृष्ण के योग से जुड़ा मथुरा का इतिहास

उत्तर प्रदेश के मथुरा को धर्म नगरी के नाम से जाना जाता है। मथुरा का इतिहास भगवान श्री कृष्ण के योग से जुड़ा है। यहां भगवान श्री कृष्ण ने अनेकों लीलाओं का मंचन किया। वहीं राजनीति में मथुरा का अहम योगदान रहा है। मथुरा के अंतर्गत पांच विधानसभा सीटें छाता, माट, गोवर्धन, मथुरा, बलदेव आती हैं। यूपी विधान सभा चुनाव 2017 में मथुरा की सभी 5 सीटों में से 4 पर बीजेपी का कब्जा था। एक सीट पर बसपा ने जीत दर्ज की थी। इस बार के चुनाव में मथुरा सीट से श्रीकांत शर्मा आगे चल रहे हैं। बलदेव विधानसभा सीट से बीजेपी के पूरन प्रकाश जाटव ने बढ़त बनाई हुई है। मांट से बीजेपी के  राजेश चौधरी जबकि गोवर्धन से मेघश्याम आगे चल रहे हैं। छाता से बीजेपी के चौधरी लक्ष्मी नारायण आगे चल रहे हैं। 

बाबा की नगरी वाराणसी

वाराणसी जिले की सभी 8 विधानसभा सीटों पर वोटों की गिनती शुरू हो गई है। 2017 में मौजूदा समय में यहां की सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी और उसके गठबंधन अपना दल (सोनेलाल) का कब्जा रहा। वाराणसी दक्षिण से सपा के कामेश्वर दीक्षित योगी सरकार के मंत्री नीलकंठ तिवारी से काफी आगे चल रहे हैं। वाराणसी अजगरा सीट से बीजेपी के बीजेपी के त्रिभुवन राम 4546 से आगे चल रहे हैं। वाराणसी सेवापुरी विधानसभा से बीजेपी के नील रतन नीलू 3678 वोट से आगे है। पिंडरा से कांग्रेस के अजय राय आगे हैं वहीं रोहनिया अभय पटेल आगे चल रहे हैं। कैंट से सौरभ श्रीवास्तव आगे चल रहे हैं। 

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़