जिस प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं वहां निवेश करने कौन आएगा: अखिलेश यादव

Akhilesh Yadav
उन्होंने पार्टी कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्नाव की घटना का जिक्र करते हुए सरकार से पूछा कि आखिर राज्य में क्या हो रहा है, उन्नाव में लगातार घटनाएं हो रही हैं और इनका जिम्मेदार कौन है।
लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि जिस राज्य में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, वहां निवेश करने कौन आएगा। उन्होंने पार्टी कार्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन में उन्नाव की घटना का जिक्र करते हुए सरकार से पूछा कि आखिर राज्य में क्या हो रहा है, उन्नाव में लगातार घटनाएं हो रही हैं और इनका जिम्मेदार कौन है। उल्लेखनीय है कि उन्नाव के असोहा थाना अंतर्गत बबुरहा गांव में बुधवार शाम पशुओं के लिए चारा लेने गईं तीन दलित किशोरियों में से दो संदिग्ध अवस्था में मृत मिलीं, जबकि एक अन्य गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जिस प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं, मां सुरक्षित नहीं हैं, वहां कौन निवेश करने आएगा। उन्होंने कहा कि उन्नाव में लगातार महिलाओं के खिलाफ अपराध हो रहे हैं तथा हाथरस में तो रात में ही बेटी को जला दिया गया। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार लगातार प्रदेश में निवेश के दावे कर रही है, लेकिन वह निवेश कहां हो रहा है, यह कहीं नहीं दिखता है। 

इसे भी पढ़ें: अखिलेश यादव के साथ गठबंधन को तैयार शिवपाल मगर पार्टी का विलय नहीं करेंगे

इस दौरान बहुजन समाज पार्टी की सरकार में मंत्री रहे आर के चौधरी समेत कई लोगों ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। अखिलेश ने कहा कि केंद्र सरकार को तीनों नए कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए। उन्होंने पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर भी केंद्र सरकार पर हमला बोला। सपा अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में हिरासत में सर्वाधिक मौत हुई हैं और साथ ही सबसे ज्यादा फर्जी मुठभेड़ भी हुई हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़