मुट्ठी में गेहूं-चावल लेकर अखिलेश ने लिया भाजपा को हराने का अन्न संकल्प, किए यह बड़े वादे

मुट्ठी में गेहूं-चावल लेकर अखिलेश ने लिया भाजपा को हराने का अन्न संकल्प, किए यह बड़े वादे

अन्न संकल्प के दौरान अखिलेश यादव ने किसानों से कई बड़े वादे भी किए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी की सरकार बनती है तो गिफ्ट गन्ना किसानों को 15 दिन में भुगतान किए जाएंगे। उन्होंने किसानों को मुफ्त में बिजली देने और ब्याज मुक्त लोन तथा बीमा भी देने की बात कही है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर समाजवादी पार्टी अब किसानों को साधने में जुट गई है। इसी कड़ी में आज अखिलेश यादव ने अन्न संकल्प लिया। मुट्ठी में गेहूं और चावल लेकर अखिलेश यादव के साथ कई लोगों ने अन्न संकल्प लिया। इस दौरान अखिलेश यादव ने कहा कि हम सभी लोग संकल्प लेते हैं कि जिन्होंने किसानों पर अन्याय और अत्याचार किया, उन्हें इस चुनाव में हराएंगे और हटाएंगे। यही हमारा अन्न संकल्प है। इस दौरान अखिलेश यादव के साथ किसान नेता तेजिंदर सिंह बिक्र भी थे। अखिलेश ने दावा किया कि जब लखीमपुर खीरी कांड हुआ था उस वक्त तेजिंदर भी गाड़ी के टक्कर लगने से जख्मी हुए थे।

अन्न संकल्प के दौरान अखिलेश यादव ने किसानों से कई बड़े वादे भी किए हैं। अखिलेश यादव ने कहा कि अगर समाजवादी पार्टी की सरकार बनती है तो गिफ्ट गन्ना किसानों को 15 दिन में भुगतान किए जाएंगे। उन्होंने किसानों को मुफ्त में बिजली देने और ब्याज मुक्त लोन तथा बीमा भी देने की बात कही है। अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में किसानों को सभी फसलों पर MSP, गन्ना किसानों को 15 दिन में उनका भुगतान, किसानों को सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त, ब्याज़मुक्त लोन, किसानों के लिए बीमा एवं पेंशन की व्यवस्था को शामिल किया जाएगा। भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि वे बताएं कि राज्य में कितनी स्मार्ट सिटी बन गई है।

इसे भी पढ़ें: Breaking: पंजाब में 14 को नहीं, 20 फरवरी को होंगे विधानसभा चुनाव, सियासी दलों ने की थी तारीख बदलने की मांग

भाजपा पर हमला जारी रखते हुए अखिलेश ने कहा कि उत्तर प्रदेश चुनाव के लिए बड़े-बड़े षडयंत्र और साजिश की जा रही हैं। हमारे परिवार की हमसे ज़्यादा चिंता भाजपा को है। हमारा घोषणा पत्र भाजपा के घोषणा पत्र के बाद आएगा। आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों पर 7 चरणों में चुनाव होंगे। इन सात चरणों के तहत 10 फरवरी, 14 फरवरी, 20 फरवरी, 23 फरवरी, 27 फरवरी, 3 मार्च और 7 मार्च को मतदान होंगे जबकि नतीजे 10 मार्च को आएंगे। उत्तर प्रदेश में मुख्य मुकाबला समाजवादी पार्टी और भाजपा के बीच मानी जा रही है। हालांकि बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस ने भी जबरदस्त तरीके से चुनावी दमखम लगा रखा है। 





नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।