योगी बोले- जनता ने 2017 में भ्रष्टाचारियों को चुना नहीं, हमने 5 वर्षों के दौरान बख्शा नहीं

Yogi
अंकित सिंह । Jan 25, 2022 5:57PM
आज सुबह ही योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव पर एक और ट्वीट के जरिए ही हमला किया था। अखिलेश पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा था कि ऐसे लोगों की शिक्षा, दीक्षा और दृष्टि के बारे में क्या ही कहा जाए।

उत्तर प्रदेश में चुनावी सरगर्मियां के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर भी अपने चरम पर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लगातार समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साथ रहे हैं। एक बार फिर से अपने ट्वीट के जरिए योगी आदित्यनाथ में अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। इसके साथ ही उन्होंने 10 मार्च 2022 को एक बार फिर से भाजपा सरकार बनाने का दम भी भरा है। अपने ट्वीट में योगी आदित्यनाथ ने लिखा कि जनता ने 2017 में भ्रष्टाचारियों को चुना नहीं, हमने विगत 5 वर्षों के दौरान भ्रष्टाचारियों को बख्शा नहीं! 10 मार्च, 2022 के बाद भी फिर से यही होगा...

इससे पहले आज सुबह ही योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश यादव पर एक और ट्वीट के जरिए ही हमला किया था। अखिलेश पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा था कि ऐसे लोगों की शिक्षा, दीक्षा और दृष्टि के बारे में क्या ही कहा जाए। अपने ट्वीट में योगी ने सपा अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए लिखा कि जिन्हें पाकिस्तान दुश्मन नहीं लगता, जिन्ना दोस्त लगता है। उनकी शिक्षा-दीक्षा और दृष्टि पर क्या ही कहा जाए। उन्होंने इसी ट्वीट में कहा, वह स्वयं को समाजवादी कहते हैं, लेकिन सत्य यही है कि इनके नस-नस में तमंचावाद दौड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें: योगी और मोदी की जोड़ी ने प्राचीनता को ध्यान रख बदला काशी का स्वरूप

योगी ने एक अन्य ट्वीट में विपक्ष को मुद्दा विहीन करार देते हुए कहा, एक कहावत है। करें न धरें, तरकश पहने फिरें... पूरे विपक्ष का यही हाल है! सत्ता में रहे तो कुछ करा न धरा, अब चुनाव के समय सब तरकश पहने फिर रहे हैं।’’ गौरतलब है कि सपा अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने एक अखबार को दिए गए साक्षात्कार में कहा था,‘‘ भारत का असल दुश्मन चीन है, पाकिस्तान तो राजनीतिक दुश्मन है। मगर भाजपा वोट बैंक की राजनीति के लिए सिर्फ पाकिस्तान पर ही निशाना साधती है।’’  भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी अखिलेश के इस बयान की तीखी आलोचना की थी।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़