CM योगी ने की शहीद जवान के परिजनों से मुलाकात, कहा- सभी मांगे पूरी होंगी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  फरवरी 18, 2019   11:19
CM योगी ने की शहीद जवान के परिजनों से मुलाकात, कहा- सभी मांगे पूरी होंगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा के पुलवामा में आतंकवादियों के कायरतापूर्ण हमले में उत्तर प्रदेश के भी 12 जवान शहीद हो गए। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हो चुका है और जो लोग आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं उन्हें करारा जवाब मिलेगा।

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को पुलवामा आतंकवादी हमले में शहीद हुए महाराजगंज जिले के हरपुर बेलहिया गांव के मूल निवासी सीआरपीएफ कांस्टेबल पंकज त्रिपाठी के परिजनों से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने शहीद जवान को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद परिजनों को आश्वासन दिया कि सरकार उनकी सभी मांगों को पूरा करेगी। योगी ने संवाददाताओं के सामने घोषणा की कि राज्य सरकार पुलवामा हमले में शहीद हुए हर जवान के परिजन को 25 लाख रुपए, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और उनके गांव के संपर्क मार्ग का नामकरण उस शहीद के नाम पर करने के साथ-साथ परिवार को खेती के लिए 1 एकड़ जमीन उपलब्ध कराएगी।

इसे भी पढ़ें: राजनाथ ने ओडिशा में 1942 के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की

मुख्यमंत्री ने कहा के पुलवामा में आतंकवादियों के कायरतापूर्ण हमले में उत्तर प्रदेश के भी 12 जवान शहीद हो गए। पूरा देश आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हो चुका है और जो लोग आतंकवाद को बढ़ावा दे रहे हैं उन्हें करारा जवाब मिलेगा। योगी ने दावा किया कि यह नया भारत है और वह अपने नागरिकों के सम्मान की रक्षा करने के साथ-साथ दुश्मन को करारा जवाब देने में भी सक्षम है। 

इसे भी पढ़ें: पुलवामा आतंकी हमले का मास्टरमाइंड कामरान और गाजी ढेर, 5 जवान शहीद

शहीद जवान पंकज त्रिपाठी के पिता ओम प्रकाश त्रिपाठी ने इस मौके पर कहा के मुख्यमंत्री ने उनसे ना तो उनकी मांगों के बारे में पूछा और ना ही बताया की सरकार हमें क्या देने वाली है हमने कागज के टुकड़े पर अपनी मांगे लिखीं और उन्हें सौंप दिया। योगी ने उसे अपने पास रख लिया और कहा कि हमारी मांगे पूरी होंगी। मांगों के बारे में पूछे जाने पर त्रिपाठी ने बताया कि उनकी छह मांगे हैं जिनमें शहीद पंकज की पत्नी के लिए प्राइमरी स्कूल में नौकरी, इसके अलावा उनके छोटे बेटे को भी नौकरी देने तथा गांव को मुख्य सड़क से जोड़ने के लिए एक लिंक रोड बनवाने की मांग मुख्य रूप से शामिल हैं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।