• तोक्यो ओलिंपिक में हैं 'एंटी-सेक्स' बेड? खिलाड़ियो को प्राइवेट मोमेंट मनाने से रोक!

तोक्यो ओलंपिक के आयोजक जापान में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण सोशल डिस्टेसिंग को बनाए रखने के लिए बड़े कदम उठा रही है। बता दें कि तोक्यो ओलंपिक के आयजकों ने खेल गांव छोड़ने के बाद ही एथलीटों को कंडोम देने का फैसला किया है।

तोक्यो ओलपिंक 2021 का उद्घाटन समारोह 23 जुलाई को जापान की राजधानी के नवनिर्मित नेशनल स्टेडियम में होने जा रहा है और इसका समापन समारोह 8 अगस्त 2021 को उसी स्थान पर होगा। आपको बता दें कि तोक्यो 2020 का उद्घाटन समारोह स्थानीय समयानुसार रात 8 बजे से यानी भारतीय मानक समयानुसार शाम 4:30 बजे से शुरू होगा।

इसे भी पढ़ें: ओलंपिक विषय पर कोई विज्ञापन नहीं दिखाएगा Toyota, जानिए क्या है कारण?

वहीं अब तोक्यो ओलंपिक के आयोजक जापान में कोविड-19 मामलों में वृद्धि के कारण सोशल डिस्टेसिंग को बनाए रखने के लिए बड़े कदम उठा रही है। बता दें कि तोक्यो ओलंपिक के आयजकों ने खेल गांव छोड़ने के बाद ही एथलीटों को कंडोम देने का फैसला किया है। इसके साथ ही आयोजकों ने एथलीटों को सेक्स विरोधी बिस्तर उपलब्ध कराया हैं जिससे कोई भी एथलीट फिजीकल रिलेशन नहीं बना पाएगा। 

 

क्या है  'एंटी-सेक्स' बेड?

जानकारी के लिए बता दें कि यह 'एंटी-सेक्स' बेड कार्डबोर्ड से बनाए गए हैं और केवल एक व्यक्ति के वजन के लिए ही डिजाइन किया गया हैंं। अमेरिकी धावक पॉल चेलिमो ने इस एंटी सेक्स बेड की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर किया है और लिखा कि, तोक्यो ओलंपिक गांव में लगाए गए यह बेड कार्डबोर्ड से बने है, इसका उद्देशय एथलीटों के बीच फिजीकल रिलेशन नहीं बनने के लिए तैयार किया गया है। इस बेड को एक व्यक्ति के वजन के लिए ही तैयार किया गया है। अमेरिकी धावक ने आगे कहा कि, अगर बेड गिर गया तो उन्हें फर्श पर सोने का अभ्यास करना होगा। उन्होंने आगे ट्वीट किया कि, अगर बेड टूट जाता है तो मूझे अभ्यास करना शुरू करना होगा कि कैसे फर्श पर सोना है; तोक्यो में तनाव अधिक बढ़ रहा है। 

इसे भी पढ़ें: खेलमंत्री मनोज तिवारी का नाम बंगाल की सीनियर टीम के फिटनेस शिविर में शामिल

आपको जानकार हैरानी होगी लेकिन तोक्यो 2020 के आयजकों ने खेल गांव में एथलीटों के लिए 160, 000 कंडोम देने के लिए चार कंडोम कंपनियों के साथ समझौता किया है। आयजकों ने न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि, कंडोम का वितरण एथलीटों के खेल गांव में इस्तेमाल के लिए नहीं है, बल्कि एथलीटों को जागरूकता बढ़ाने के लिए एचआईवी और एड्स के बारे में उनके घर वापस ले जाने के लिए है। वहीं आयरिश जिमनास्ट रिस मैकलेगन (Rhys McClenghan) ने इस एंटी सेक्स बेड पर छलांग लगाकर इन बातों को झूठ करार दिया है। मैकलेगन ने टि्वटर पर पोस्ट कर कहा कि, इन बैड कोस एंटी सेक्स बेड कहा जा रहा है यह फएक न्यूज है। इसी को लेकर ओलिंपिक के आधिकारिक टि्वटर अकाउंट ने खिलाड़ी का शुक्रिया अदा किया और कहा कि यह बेड टिकाऊ और मजबूत है।