कोरोना बना खेल का विलेन, इंग्लैंड फुटबॉल संघ 82 लोगों को नौकरी से निकालेगा

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जून 29, 2020   18:29
कोरोना बना खेल का विलेन, इंग्लैंड फुटबॉल संघ 82 लोगों को नौकरी से निकालेगा

इंग्लैंड फुटबॉल संघ 82 लोगों को नौकरी से निकालने की तैयारी में है।एफए के अध्यक्ष ग्रेग क्लार्क ने कहा, ‘‘किसी को नहीं पता कि टीका कब तैयार होगा या कब बेहतर उपचार तैयार होगा।’’ ब्रिटेन में मार्च में जब लॉकडाउन शुरू हुआ था तो एफए ने भर्ती रोक दी थी और 42 खाली पदों को भरा नहीं गया था।

लंदन। इंग्लैंड फुटबॉल संघ (एफए) 82 लोगों को निकालने की तैयारी में है क्योंकि कोरोना वायरस महामारी के कारण खेल के ठप्प पड़ने और दर्शकों के बिना मैच होने से उसे चार साल में 30 करोड़ पौंड का नुकसान होगा। इंग्लैंड फुटबॉल संघ के स्वामित्व वाले वेम्बले स्टेडियम में अगले महीने यूरोपीय चैंपियनशिप के सात मैचों का आयोजन होना था जिसमें सेमीफाइनल और फाइनल भी शामिल हैं लेकिन इस टूर्नामेंट को अगले साल तक स्थगित करना पड़ा।

इसे भी पढ़ें: ICC के एलीट पैनल में शामिल हुए भारतीय अंपायर नितिन मेनन

इसके अलावा कंसर्ट और एनएफएल के दो नियमित सत्र मैचों को भी रद्द कर दिया गया जिनका आयोजन फुटबॉल संघ के 90000 दर्शकों की क्षमता वाले राष्ट्रीय स्टेडियम में होना था। एफए के अध्यक्ष ग्रेग क्लार्क ने कहा, ‘‘किसी को नहीं पता कि टीका कब तैयार होगा या कब बेहतर उपचार तैयार होगा।’’ ब्रिटेन में मार्च में जब लॉकडाउन शुरू हुआ था तो एफए ने भर्ती रोक दी थी और 42 खाली पदों को भरा नहीं गया था। इसके अलावा अब 82 लोगों को हटाए जाने की तैयारी है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।