महिला क्रिकेट पदार्पण में भारतीय टीम हारी, देश की बैडमिंटन और टेबल टेनिस में आसान जीत से शुरूआत

womens
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
भारतीय महिला क्रिकेट टीम को यहां राष्ट्रमंडल खेलों के पदार्पण में आस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा तो वहीं देश के बैडमिंटन खिलाड़ियों और टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने शुरूआती दिन अपने प्रतिद्वंद्वियों को आसानी से पराजित किया।

बर्मिंघम, 30  जुलाई। भारतीय महिला क्रिकेट टीम को यहां राष्ट्रमंडल खेलों के पदार्पण में आस्ट्रेलिया से हार का सामना करना पड़ा तो वहीं देश के बैडमिंटन खिलाड़ियों और टेबल टेनिस खिलाड़ियों ने शुरूआती दिन अपने प्रतिद्वंद्वियों को आसानी से पराजित किया। भारतीय महिला हॉकी टीम अपने से निचली रैंकिंग की घाना टीम को 5-0 से हराया।

लेकिन सविता पूनिया की अगुआई वाली टीम हालांकि पूल ए के अपने पहले मैच में इतनी प्रभावशाली दिखायी नहीं दी। टीम के लिये गुरजीत कौर ने तीसरे और 39वें मिनट में दो गोल किये जबकि नेहा गोयल ने 28वें, संगीता कुमारी ने 36वें और सलीमा टेटे ने 56वें मिनट में मैदानी गोल दागे। भारत ने हालांकि मैच के सभी विभागों में दबदबा बनाया लेकिन पहले दो क्वार्टर में उनका प्रदर्शन खराब रहा जिसमें घाना के डिफेंस ने मजबूत प्रदर्शन कर ऊंची रैंकिंग की टीम को निराश किया।

भारत के लिये सबसे ज्यादा हताशाजनक मिडफील्ड और अग्रिम पंक्ति के बीच कमजोर कड़ी रही। पेनल्टी कॉर्नर को गोल में नहीं बदलने का सिलसिला भी जारी रहा और भारतीय टीम 10 मौकों में से केवल एक को ही भुना सकी। महिला क्रिकेट के पदार्पण मैच में भारतीय तेज गेंदबाज रेणुका सिंह के शानदार प्रदर्शन के बावजूद आस्ट्रेलिया ने वापसी करते हुए भारत को तीन विकेट से हरा दिया।

आस्ट्रेलिया के लिये 155 रन का लक्ष्य मुश्किल नहीं था लेकिन अपना सातवां टी20 मैच खेल रही रेणुका ने चार ओवर में 18 रन देकर चार विकेट लेते हुए आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजी की कमर तोड़ दी। आस्ट्रेलिया के पांच विकेट 49 रन पर गिर गए थे लेकिन इसके बाद भारत ने कोताही बरत दी जिससे एशले गार्डनर (35 गेंद में नाबाद 52 रन) ने टीम को मैच में लौटा दिया। उन्होंने ग्रेस हैरिस (37) के साथ 51 और अलाना किंग (नाबाद 18) के साथ 47 रन की साझेदारी की। मौजूदा टी20 और वनडे विश्व चैम्पियन आस्ट्रेलिया ने संकट से निकलकर जीत दर्ज करके अपने तेवर और तैयारी भी दिखा दी।

भारत के अनुभवी मुक्केबाज शिवा थापा ने पाकिस्तान के सुलेमान बलोच को 5-0 से हराकर 63 - 5 किलोवर्ग के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पांच बार के एशियाई चैम्पियनशिप पदक विजेता थापा तकनीकी तौर पर बलोच से काफी बेहतर थे और उन्होंने जबर्दस्त पंच लगाये। भारत के अनुभवी बैडमिंटन खिलाड़ियों को अपने पहले मिश्रित टीम मुकाबले में पाकिस्तान पर 5-0 से क्लीन स्वीप करने में जरा भी पसीना नहीं बहाना पड़ा।

बी सुमित रेड्डी और माचिमांडा पोनप्पा की जोड़ी ने मिश्रित युगल मुकाबले में मुहम्मद इरफान सईद भट्टी और गजाला सिद्दीकी पर 21-9, 21-12 से एकतरफा जीत के साथ इन खेलों में टीम का सफर शुरू किया। किदांबी श्रीकांत ने पुरुष एकल में आगे बढ़ाते हुए मुराद अली को आसानी से 21-7,  21-12 से शिकस्त दी। महिला एकल के मैच में दो बार ओलंपिक पदक जीतने वाली पीवी सिंधू को इसके बाद महिला एकल मैच में महूर शहजाद को 21-7, 21-6 से हराने में कोई परेशानी नहीं हुई।

चौथा मैच पुरूष युगल था जिसमें सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी ने मुराद अली और मोहम्मद इरफान सई भाटी को 21-12, 21-9 से पराजित किया। अंतिम महिला युगल मैच में भारत की तृषा जॉली और गायत्री गोपीचंद ने माहूर शहजाद और गजाला सिद्दीकी की जोड़ी को 21-4, 21-5 से हराया। भारतीय पुरूष और महिला टेबल टेनिस टीमों ने अपने अभियान का जीत के साथ आगाज करते हुए क्रमश: बारबाडोस और दक्षिण अफ्रीका को 3 - 0 के समान अंतर से हराया।

बारबाडोस के खिलाफ ग्रुप तीन के मुकाबले में हरमीत देसाई और जी साथियान की टीम ने केविन फारले और टाइरीस नाइट को 11 - 9, 11 - 9, 11 - 4 से हराया जबकि अनुभवी शरत कमल ने रेमन मैक्सवेल को 15 मिनट से भी कम समय में 11 - 5, 11 - 3, 11 - 3 से शिकस्त दी। साथियान ने नाइट को 11 - 4, 11 - 4, 11 - 5 से हराकर भारत की जीत पर मुहर लगा दी। इससे पहले मनिका बत्रा की अगुवाई में भारतीय महिला टीम ने खिताब की रक्षा का अभियान जीत के साथ शुरू किया।

महिला युगल मुकाबले में श्रीजा अकुला और रीत टेनिसन ने दक्षिण अफ्रीका की लैला एडवडर्स और डेनिशा पटेल को 11 - 7, 11 - 7, 11 - 5 से हराकर भारत को बढत दिलाई। इसके बाद मौजूदा चैम्पियन बत्रा ने मुसफिक कलाम को पहले एकल मैच में 11 - 5, 11 - 3, 11 - 2 से हराया। बत्रा पिछले राष्ट्रमंडल खेलों में टेबल टेनिस महिला एकल वर्ग में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनी थी। अकुला ने दूसरे एकल में पटेल को 11 - 5, 11 - 3, 11 - 6 से हराकर भारत की जीत पर मुहर लगा दी।

भारतीय तैराक श्रीहरि नटराज ने 54 . 68 सेकंड का समय निकालकर पुरूषों की 100 मीटर बैकस्ट्रोक स्पर्धा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया। साजन प्रकाश और पहली बार खेल रहे कुशाग्र रावत अपने अपने वर्ग में सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सके। बेंगलुरू के 21 वर्ष के नटराज अपनी हीट में तीसरे सबसे तेज और कुल पांचवें सबसे तेज तैराक रहे। प्रकाश हीट में आठवें स्थान पर रहे जिन्होंने पुरूषों की 50 मीटर बटरफ्लाय में 25 . 01 सेकंड का समय निकाला।

कुशाग्र पुरूषों की 400 मीटर फ्रीस्टाइल में 3 : 57 . 45 सेकंड का समय निकालकर अपनी हीट में आखिरी स्थान पर रहे। कुशाग्र और प्रकाश अब दूसरे वर्ग में चुनौती पेश करेंगे। प्रकाश पुरूषों की 100 और 200 मीटर बटरफ्लाय में जबकि कुशाग्र पुरूषों की 1500 मीटर फ्रीस्टाइल और 200 मीटर फ्रीस्टाइल में उतरेंगे। भारतीय साइकिलिंग टीम के लिए अभियान की शुरुआत निराशाजनक रही और तीनों टीमें फाइनल में जगह बनाने में नाकाम रहीं।

रोनाल्डो लैटोंजाम, वाई रोजित सिंह, डेविड बेकहम एल्कातोहचूंगो की भारतीय पुरुष स्प्रिंट टीम कुल 44 . 702 सेकंड के समय के साथ क्वालीफिकेशन में छठे स्थान पर रहते हुए पदक दौर में जगह नहीं बना सकी। महिला स्प्रिंट टीम का प्रदर्शन पुरुष टीम से भी बुरा रहा। शशिकला अगाशे, त्रियशा पॉल और मयूरी लुटे की टीम क्वालीफाइंग दौर में 51.433 के कुल समय के साथ सातवें स्थान पर रही। वेंकप्पा केंगलगुट्टी, दिनेश कुमार और विश्वजीत सिंह की भारतीय पुरुषों की 4000 पर्सूट टीम चार मिनट 12.865 सेकंड के समय के साथ क्वालीफिकेशन में छठे और आखिरी स्थान पर रही।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़