डिविलियर्स की पारी से भी नहीं जीत पाया RCB, मैच में चमके बुमराह और हार्दिक

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  मार्च 29, 2019   08:19
डिविलियर्स की पारी से भी नहीं जीत पाया RCB, मैच में चमके बुमराह और हार्दिक

बेंगलोर को अंतिम चार ओवर में 41 रन चाहिए थे। ऐसे में बुमराह ने एक ओवर में केवल एक दिया और शिमरोन हेटमायर (पांच) को आउट किया।

बेंगलुरू। हार्दिक पंड्या की आखिरी क्षणों की आक्रामक बल्लेबाजी और जसप्रीत बुमराह की डेथ ओवरों में कसी हुई गेंदबाजी के दम पर मुंबई इंडियन्स ने गुरुवार को यहां रायल चैलेंजर्स बेंगलोर को छह रन से हराकर आईपीएल 2019 में अपना खाता खोला। बेंगलोर के सामने 188 रन का लक्ष्य था, लेकिन बुमराह ने 20 रन के एवज में तीन विकेट लेकर उसकी पहली जीत दर्ज करने की उम्मीदों पर पानी फेरा। विराट कोहली ने 32 गेंदों पर 46 रन और पार्थिव पटेल ने 22 गेंदों पर 31 रन का योगदान दिया लेकिन वह डिविलियर्स थे जिन्होंने शुरू में मिले जीवनदान का फायदा उठाकर 41 गेंदों पर चार चौकों और छह छक्कों की मदद से नाबाद 70 रन की पारी खेली लेकिन इसके बावजूद बेंगलोर पांच विकेट पर 181 रन ही बना पाया।

इससे पहले युजवेंद्र चहल ने 38 रन देकर चार विकेट लिये। उमेश यादव (26 रन देकर दो) और मोहम्मद सिराज (38 रन देकर दो) ने उनका अच्छा साथ दिया, लेकिन मुंबई हार्दिक पंड्या की 14 गेंदों पर नाबाद 32 रन की पारी से आठ विकेट पर 187 रन तक पहुंचने में सफल रहा। कप्तान रोहित शर्मा (33 गेंदों पर 48 रन) ने टीम की तरफ से सर्वाधिक रन बनाये। सूर्यकुमार यादव ने 24 गेंदों पर 38 रन और युवराज सिंह ने 12 गेंदों पर 23 रन का योगदान दिया। 

इसे भी पढ़ें: अश्विन जैसे बड़े खिलाड़ी को मांकड़िंग नहीं करना चाहिए था- मदन लाल

बेंगलोर को अंतिम चार ओवर में 41 रन चाहिए थे। ऐसे में बुमराह ने एक ओवर में केवल एक दिया और शिमरोन हेटमायर (पांच) को आउट किया। इससे बेंगलोर पर दबाव बढ़ गया। डिविलियर्स ने हार्दिक के अगले ओवर में दो छक्कों की मदद से 18 रन बटोरकर हिसाब बराबर कर दिया। बुमराह ने अगले ओवर में फिर से पांच रन दिये और कोलिन डि ग्रैंडहोम (दो) का विकेट लिया। अब छह गेंद पर 17 रन चाहिए थे लेकिन लेसिथ मलिंगा ने अंतिम ओवर में केवल दस रन दिये। बल्लेबाजी के लिये अनुकूल पिच पर रोहित बड़ी पारी नहीं खेल पाये और कोहली भी अच्छी शुरूआत को बड़ी पारी में नहीं बदल पाये। कोहली और बुमराह के बीच की जंग में पहला चरण भारतीय कप्तान के नाम रहा तो दूसरा चरण देश के शीर्ष गेंदबाज ने अपने नाम किया।

मोईन अली (13) के आउट होने के बाद क्रीज पर उतरे कोहली को शुरू में ही बुमराह का सामना करना पड़ा और उन्होंने तीन चौकों से उनका स्वागत किया। बुमराह जब दूसरा स्पैल करने आये तो कोहली अर्धशतक के करीब थे लेकिन उन्होंने पुल करके मिडविकेट पर हार्दिक पंड्या को कैच थमा दिया। कोहली इस बीच सुरेश रैना (5034) के बाद आईपीएल में 5000 रन पूरे करने वाले दूसरे बल्लेबाज बने। बेंगलोर की तरफ से शुरू में पार्थिव ने रन गति बनायी जिससे पावरप्ले तक बेंगलोर का स्कोर एक विकेट पर 60 रन हो गया। मयंक मार्कंडेय ने पार्थिव को बोल्ड करके कोहली के साथ उनकी 21 गेंदों पर 40 रन की साझेदारी खत्म की। मार्कंडेय को अगली गेंद पर एबी डिविलियर्स का भी विकेट मिल जाता लेकिन युवराज कैच लेने से चूक गये।

इसे भी पढ़ें: एमसीसी के बदले बोल, अश्विन के मांकड़िंग को खेल भावना के खिलाफ बताया

डिविलियर्स ने इसका पूरा फायदा उठाकर 2017 के बाद अपना पहला आईपीएल मैच खेल रहे लेसिथ मलिंगा को निशाना बनाया। डिविलियर्स ने मलिंगा की जो पहली चार गेंद खेली उन पर तीन छक्के और एक चौका लगाया तथा 31 गेंदों पर अर्धशतक पूरा किया। इससे पहले रोहित और क्विटंन डिकाक (20 गेंदों पर 23 रन) मुंबई को अच्छी शुरूआत दिलायी। उमेश पर लगाया गया खूबसूरत फ्लिक हो या नवदीप सैनी पुल शॉट से लगाया गया छक्का, रोहित शुरू से हावी होकर खेलने के मूड में लग रहे थे लेकिन वह बड़ी पारी नहीं खेल पाये।

उमेश दूसरे स्पैल के लिये आये। उनकी पटकी हुई गेंद पर रोहित सही टाइमिंग से पुल नहीं कर पाये। गेंद ने बल्ले का ऊपरी किनारा लिया और सिराज ने लांग आफ पर हवा में लहराता कैच लपक लिया। रोहित ने आठ चौके और एक छक्का लगाया। चहल ने इससे पहले डिकाक को बोल्ड करके बेंगलोर को पहली सफलता दिलायी थी। युवराज ने चहल की लगातार गेंदों पर तीन आकर्षक छक्के लगाये लेकिन यह लेग स्पिनर बदला चुकता करने में सफल रहा। युवराज चौथी गेंद को भी छक्के के लिये भेजने के प्रयास में लांग आफ पर कैच दे बैठे।

इसे भी पढ़ें: बल्लेबाज नीतिश राणा ने कहा, अपनी लय को रखना चाहता हूं बरकरार

मुंबई का स्कोर 15 ओवर के बाद तीन विकेट पर 139 रन था लेकिन अगले दो ओवर में केवल आठ रन बने और इस बीच तीन बल्लेबाज पवेलियन लौटे। चहल ने विश्वसनीय बल्लेबाजी कर रहे सूर्यकुमार को अपनी चतुराई भरी गेंदबाजी के जाल में फंसाकर उन्हें बड़ी पारी नहीं खेलने दी। उन्होंने अपनी ही गेंद पर क्रुणाल पंड्या (एक) का कैच छोड़ा लेकिन वह कीरेन पोलार्ड (पांच) के रूप में चौथा विकेट हासिल करने में सफल रहे। क्रुणाल को अगले ओवर में उमेश ने पवेलियन भेज दिया। विकेट गिरने के बावजूद हार्दिक ने मुंबई की उम्मीदें बनाये रखी। उन्होंने सिराज के आखिरी ओवर में दो छक्के जड़कर अपने प्रशंसकों को निराश भी नहीं किया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Prabhasakshi logoखबरें और भी हैं...

खेल

झरोखे से...