IPL में राजस्थान रॉयल्स के युवा खिलाड़ी प्रभाव छोड़ने को तैयार

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  अगस्त 28, 2020   19:53
IPL में राजस्थान रॉयल्स के युवा खिलाड़ी प्रभाव छोड़ने को तैयार

राजस्थान रॉयल्स के युवा खिलाड़ी आईपीएल में प्रभाव छोड़ने केलिए तैयार हैं।कार्तिक ने रणजी टीम (उत्तर प्रदेश) के अपने पहले कप्तान सुरेश रैना की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ मैं यह विस्तार से नहीं बता सकता की मेरे करियर में सुरेश रैना का क्या योगदान रहा है।’’

नयी दिल्ली। रॉजस्थान रॉयल्स के युवा खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इस सत्र में अपने प्रदर्शन से प्रभाव छोड़ने की पूरी कोशिश करेगें। कार्तिक त्यागी, आकाश सिंह, यशस्वी जायसवाल जैसे भारतीय अंडर-19 टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले खिलाड़ी उस कारनामें को दोहराना चाहेंगे12 साल पहले जिससे ‘रॉकस्टार रविन्द्र जडेजा’ हरफनमौला खिलाड़ी के तौर पर भारतीय टीम की पहली पसंद बने थे। कार्तिक ने रणजी टीम (उत्तर प्रदेश) के अपने पहले कप्तान सुरेश रैना की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘ मैं यह विस्तार से नहीं बता सकता की मेरे करियर में सुरेश रैना का क्या योगदान रहा है।’’ आकाश सिंह के लिए यह भगवान से मिला मौका है जहां वह अपने पसंदीदा ‘जेडी भैय्या (जयदेव उनादकट)’ के साथ मैदान पर समय बिता सकते हैं और मुश्किल परिस्थितियों का सामना कैसे करना है यह सीख सकेंगे। अंडर-19 टीम के उनके एक अन्य साथी यशस्वी को पहले ही भारतीय क्रिकेट का भविष्य माना जा रहा है। मुंबई का यह खिलाड़ी लिस्ट ए क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाला सबसे युवा खिलाड़ी है। ये तीनों युवा खिलाड़ी 2020 में विश्व कप के फाइनल तक का सफर तय करने वाले अंडर-19 भारतीय टीम का हिस्सा थे।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में नस्लवाद को लेकर विरोध के बीच F1 का बहिष्कार नहीं करेंगे लुईस हैमिल्टन

क्रिकेट में उनकी अच्छे सफर की शुरूआत राजस्थान रॉयल्स से जुड़ने से पहले ही हो गयी। त्यागी ने उस क्षण को याद किया जब रैना ने 17 साल की उम्र में उन्हें रणजी टीम में शामिल करने की वकालत की और तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार ने उनका पूरा समर्थन किया। दायें हाथ के इस तेज गेंदबाज ने कहा, ‘‘ रैना भैया का जो योगदान रहा है, हम कभी नहीं भूला पायेंगे। जब मैंने अंडर-16 में खेल रहा था तब मुझे रणजी ट्रॉफी शिविर में शामिल होने के लिए कहा गया था। रैना भैया ने कुछ दिनों तक मेरे खेल को देखने के बाद चयनकर्ताओं से मुझे रणजी ट्रॉफी टीम में शामिल करने को कहा था।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं पीके भाई (प्रवीण कुमार) के समर्थन का शुक्रगुजार हूं। रेलवे के खिलाफ मैच में दोनों ने लगातार मेरा मार्गदर्शन किया ताकि मुझ पर दबाव नहीं बने।’’ बायें हाथ के तेज गेंदबाज आकाश के लिए रॉयल्स से जुड़ने का सबसे बड़ा फायदा जयदेव उनादकट की देख-रेख में खेलना होगा। उन्हें हालांकि यह पता है कि टीम में जगह के पहले हकदार उनादकट होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ मैं भाग्यशाली हूं कि मेरी टीम में जेडी भाई हैं। मैं इसे सकारात्मक तरीके से लूंगा (कि मैं टीम में जगह के लिए पहली पसंद नहीं रहूंगा)। यह मेरे लिये सीखने का समय है और एक सीनियर खिलाड़ी से मैदान के बाहर कैसा बर्ताव करना है यह आप सीख सकते है।’’

इसे भी पढ़ें: मेस्सी की वापसी के लिए न्यूवेल्स के सैकड़ों प्रशंसकों ने निकाला जुलूस

इन तीनों में सबसे यशस्वी सबसे प्रभावशाली है जिन्होंने अपनी तैयारियों के बारे में बताया। उन्होंने कहा, ‘‘मैंने रॉयल्स के कोचिंग सदस्य के मुताबिक अपनी फिटनेस का अभ्यास और अपनी डाइट के साथ सब कुछ किया जो कहा गया था। मैंने लॉकडाउन के दौरान खुद पर बहुत ध्यान दिया है।’’ अंडर-19 विश्व कप (2020) में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘‘मेरा ध्यान हमेशा प्रक्रिया पर रहेता है और अगर आपकी प्रक्रिया सही है, तो आपको मैदान पर 100 प्रतिशत देने से कोई नहीं रोक सकता है।’’ त्यागी और यशस्वी के पास जोफ्रा आर्चर और स्टीव स्मिथ से पूछने के लिए कई सवाल हैं और दोनों उनसे काफी कुछ सीखना चाहेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘ हम दोनों के लिए यह काफी भावनात्मक होगा। मैंने इन खिलाड़ियों को केवलटीवी पर देखा और अब मैं उनके साथ खेलूंगा। यह वास्तव में एक शानदार एहसास है।’’ लीग में दबाव के बारे में पूछे जाने पर आकाश ने कहा, ‘‘ अंडर-19 विश्व कप के दौरान राहुल द्रविड से मिला सुझाव उनके काफी काम आयेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ राहुल सर हमेशा इस बात पर ध्यान देते है कि और सुधार कैसे हो सकता है। वह सकारात्मक बने रहने और मानसिक मजबूती पर पर जोर देते थे। पिछले छह महीने में मैंने महसूस किया है कि मैं मानसिक तौर पर मजबूत हुआ हुआ हूं।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।