श्रीकांत और सिंधु लगातार हार के बाद नॉकआउट से लगभग बाहर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 28, 2021   16:13
श्रीकांत और सिंधु लगातार हार के बाद नॉकआउट से लगभग बाहर

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु और किदाम्बी श्रीकांत गुरूवार को यहां बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स में अपने दूसरे दौर के मैचों में पराजित होने के बाद नॉकआउट चरण से लगभग बाहर हो गये।

बैंकाक। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधु और किदाम्बी श्रीकांत गुरूवार को यहां बीडब्ल्यूएफ विश्व टूर फाइनल्स में अपने दूसरे दौर के मैचों में पराजित होने के बाद नॉकआउट चरण से लगभग बाहर हो गये। एक हफ्ते पहले ही विश्व चैम्पियन सिंधु को रतचानोक इंतानोन के हाथों करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था और इस बार भी किस्सा वैसा ही रहा और उन्हें तीसरी वरीयता प्राप्त थाईलैंड की खिलाड़ी से 18-21 13-21 से हार झेलनी पड़ी।

इसे भी पढ़ें: ऑस्ट्रेलिया के साथ बढ़ते विवाद के बीच खुद की न्यूज वेबसाइट लॉन्च करेगा गूगल, फरवरी में आने की संभावना

सिंधु ने मैच के बाद कहा, ‘‘यह मेरा दिन नहीं था। पहला गेम गंवाने से अंतर पैदा हुआ। मेरी टाइमिंग अच्छी नहीं थी, इसलिये थोड़ी निराश हूं। ’’ वहीं श्रीकांत को ताईवान के वांग जु वेई के खिलाफ एक गेम से बढ़त बनाने के बाद हार मिली और इस मैच से पहले उनका दुनिया के 12वें नंबर के खिलाफ जीत का रिकार्ड 3-0 था। वांग ने एक गेम पिछड़ने के बाद वापसी करते हुए 19-21 21-9 21-19 से जीत दर्ज की। श्रीकांत ने एक और तीन गेम का मुकाबला गंवाने के बाद कहा, ‘‘मुझे इन करीबी मैचों में जीत हासिल करने का तरीका ढूंढना होगा। मैं तीसरे गेम में ज्यादातर हिस्से में उस पर दबदबा बनाये हुए था। ’’

इसे भी पढ़ें: जानिए कौन है दीप सिद्दू, जिस पर किसानों को भड़काने का आरोप लग रहा है

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि यह मैच अभ्यास और लगातार शीर्ष खिलाड़ियों के खिलाफ खेलने की बात है। हम एक साल से खेले नहीं है और इससे पहले मैं लगातार शीर्ष आठ खिलाड़ियों के खिलाफ नहीं खेल रहा था। ’’ प्रत्येक ग्रुप से केवल दो शीर्ष खिलाड़ी ही सेमीफाइनल में जगह बनायेंगे जिससे दो दो हार से भारतीय खिलाड़ियों का टूर्नामेंट में सफर लगभग खत्म हो गया। इससे पहले श्रीकांत और वांग शुरू में 9-9 तक एक दूसरे को पछाड़ते हुए बराबरी पर रहे। लेकिन श्रीकांत 11-10 से एक अंक की बढ़त बनाने में सफल रहे और ब्रेक के बाद उन्होंने इसे 15-11 कर दिया। अपनी रैलियों से श्रीकांत ने दबदबा कायम रखा और 17-12 से आगे हो लिये।

वांग ने भी कोशिश जारी रखते हुए श्रीकांत की गलतियों से इसे 18-19 कर दिया। लेकिन भारतीय खिलाड़ी ने स्मैश लगाकर दो गेम प्वाइंट हासिल किये। वांग की बैकलाइन पर गलती से वह पहला गेम अपने नाम करने में कामयाब रहे। दूसरे गेम में दोनों खिलाड़ियों के बीच कुछ दिलचस्प रैलियां चलीं। वांग ने कुछ बेहतरीन शॉट और श्रीकांत की गलती से 9-5 की बढ़त हासिल की। इसके बाद श्रीकांत ने नेट पर लगातार गलतियां कीं और वांग ब्रेक तक 11-5 से आगे थे। इसके बाद वांग ने आराम से इसे 16-6 कर श्रीकांत की नेट गलती से दूसरा गेम हासिल कर स्कोर 1-1 कर दिया। निर्णायक गेम आक्रामक रैलियों से शुरू हुआ और श्रीकांत 4-1 की बढ़त पर पहुंच गये। पर वांग भी कहां रूकने वाले थे, उन्होंने भी वापसी करते हुए लगातार सात अंक जुटाकर 8-4 से बढ़त हासिल कर ली। फिर श्रीकांत ने वापसी की और 10-10 की बराबरी पर पहुंचे, लेकिन वांग ने तुरंत सतर्कता बरती और 17-13 से आगे हो लिये। अंत में वांग ने चार मैच प्वाइंट हासिल किये। भारतीय खिलाड़ी ने भी तीन अंक बचाये, लेकिन हार नहीं टाल सके। वहीं महिला एकल मैच में मौजूदा विश्व चैम्पियन सिंधु रतचानोक के खिलाफ पिछली हार का बदला चुकता करने के इरादे से उतरी।

इस भारतीय ने सकारात्मक शुरूआत की और 5-2 से बढ़त हासिल की और तुरंत ही ब्रेक तक 11-6 से बढ़त बना ली। पर रतचानोक ने लगातार चार अंक जुटाकर 14-14 की बराबरी हासिल की। सिंधु हालांकि 18-17 से आगे हो गयीं, पर रतचानोक ने चार अंक की मदद से पहला गेम जीत लिया। थाई स्टार खिलाड़ी ने पहले गेम की लय जारी रखते हुए दूसरे में ब्रेक तक 11-8 की बढ़त बनायी। सिंधु ने कोशिश करते हुए इसे 11-12 भी किया, पर रतचानोक ने लगातार छह अंक जुटाकर मैच जीत लिया।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।