Navratri 2022: नौ दिन बेहद शुभ फिर शादी करने से क्यों परहेज करते हैं लोग, ये है कारण

Indian Wedding
Unsplash
एकता । Sep 26, 2022 6:59PM
शारदीय नवरात्रि के दौरान कुछ चीजें करने की मनाही होती है, जिसमें बाल कटवाना, लहसुन या प्याज खाना, कपड़े धोना और सेक्स करना शामिल है। इनके अलावा नवरात्रि में शादी करने से भी मना किया जाता है। लेकिन क्यों?

शारदीय नवरात्रि 26 सितम्बर से शुरू हो गए हैं और देशभर में इसकी धूम देखने को मिल रही है। नवरात्रि एक प्रमुख हिन्दू त्यौहार हैं, जिसे भारत के अलग-अलग राज्यों में विभिन्न तरीकों से मनाया जाता है। इस त्यौहार की भव्यता का अंदाजा लोगों की खुशी, उनके जोश और उत्साह को देखकर लगाया जा सकता है। नवरात्रि के नौ दिनों में लोग माँ दुर्गा के स्वरूपों की पूजा अर्चना करते हैं, ताकि वह माता को प्रसन्न कर उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकें। इस दौरान लोग व्रत रखना भी पसंद करते हैं, जो हमारे शरीर और मन के लिए अच्छा माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: नवरात्रि के पावन दिनों में मां की आराधना करने से होती है हर मनोकामना पूरी

शारदीय नवरात्रि के दौरान कुछ चीजें करने की मनाही होती है, जिसमें बाल कटवाना, लहसुन या प्याज खाना, कपड़े धोना और सेक्स करना शामिल है। इनके अलावा नवरात्रि में शादी करने से भी मना किया जाता है। लेकिन क्यों? दरअसल, शादी के बाद नवविवाहित जोड़े एक दूसरे से मिलन करते हैं, मतलब सेक्स करते हैं और हिन्दू धर्म में व्रत के दौरान सेक्स करना वर्जित है। चलिए हम आपको आध्यात्मिक, धार्मिक और वैज्ञानिक कारणों के जरिये बताते हैं कि क्यों हिन्दू धर्म में व्रत के दौरान सेक्स करने से मना किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: Navratri 2022: जानिए माँ दुर्गा के नौ स्वरूपों को समर्पित रंगों का महत्व

आध्यात्मिक दृष्टि से- नवरात्रि के दौरान देवी माँ को प्रसन्न करने के लिए लोग व्रत रखते हैं। व्रत के लिए एकाग्रता और ध्यान की आवश्यकता होती है, इसलिए इस दौरान सेक्स करने से मना किया जाता है। सेक्स को ध्यान केंद्रित करने में सबसे बड़ी बाधा माना जाता है।

इसे भी पढ़ें: Navratri 2022: व्रत के दौरान फॉलो करें ये डाइट टिप्स, खुद को हेल्दी और एनर्जेटिक रखने में मिलेगी मदद

धार्मिक दृष्टि से- मान्यता है कि जब माँ दुर्गा धरती पर आती हैं तो इस दौरान वह हर महिला के शरीर में निवास करती हैं। इसलिए इस दौरान महिलाओं को संबंध बनाने से मना किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: जानें अलग-अलग राज्यों में किन अनोखे तरीकों से मनाया जाता है नवरात्रि का त्यौहार

वैज्ञानिक दृष्टि से- व्रत में लोग ज्यादातर समय भूखे रहते हैं, इस वजह से उनके शरीर की ऊर्जा कम हो जाती है। वहीं दूसरी तरफ सेक्स करने के लिए बहुत अधिक मात्रा में ऊर्जा की आवश्यकता होती है, जो व्रत के दौरान शरीर के लिए जुटा पाना मुश्किल होता है।

अन्य न्यूज़