Unlock 5 के 61वें दिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, स्वस्थ मरीजों और सक्रिय मामलों के बीच बढ़ रहा है अंतर

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 30, 2020   21:50
Unlock 5 के 61वें दिन स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, स्वस्थ मरीजों और सक्रिय मामलों के बीच बढ़ रहा है अंतर

मंत्रालय के मुताबिक भारत उन देशों में शामिल है जहां प्रति दस लाख आबादी पर कम मौतें हुई। मंत्रालय ने कहा कि कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश में पिछले एक महीने में उपचाराधीन मामलों की संख्या घटी है, जबकि मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़ी है।

नयी दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि देश में कोविड-19 के 38,772 नए मामले आए तथा 45,333 और मरीज स्वस्थ हो गए। देश में अब तक 88,47,600 लोग संक्रमण से उबर चुके हैं। मंत्रालय ने कहा , ‘‘स्वस्थ होने वाले मरीजों और उपचाराधीन मरीजों की संख्या के बीच अंतर बढ़ रहा है।’’देश में 4,46,952 मरीजों का उपचार चल रहा है जो कि संक्रमण के कुल मामलों का महज 4.74 प्रतिशत है। मंत्रालय ने कहा, ‘‘नए मामलों की तुलना में ज्यादा मरीज ठीक हो रहे हैं। इससे ठीक होने की दर भी सुधरकर 93.81 प्रतिशत हो गयी है।’’ मंत्रालय के मुताबिक भारत उन देशों में शामिल है जहां प्रति दस लाख आबादी पर कम मौतें हुई। मंत्रालय ने कहा कि कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, आंध्रप्रदेश में पिछले एक महीने में उपचाराधीन मामलों की संख्या घटी है, जबकि मध्यप्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़ी है। जांच की संख्या भी बढ़ी है। एक दिन में 8,76,173 जांच के साथ अब तक 14 करोड़ से ज्यादा नमूनों की जांच हो चुकी है। पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 78.31 प्रतिशत नए मामले केरल, महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, राजस्थान, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, गुजरात, मध्यप्रदेश और तमिलनाडु से आए। संक्रमण से ठीक होने के 76.94 प्रतिशत मामले दिल्ली, केरल, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, पश्चिम बंगाल, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और कर्नाटक से आए। सबसे ज्यादा दिल्ली में 6325 लोगों ने संक्रमण को मात दी। मंत्रालय ने कहा कि 443 और मरीजों की मौत हो गयी। इनमें से 78.56 प्रतिशत मामले 10 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेश के थे। इनमें महाराष्ट्र, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, केरल, हरियाणा, उत्तरप्रदेश, राजस्थान, गुजरात, कर्नाटक और पंजाब शामिल हैं। देश में कोविड-19 के 38,772 नए मामलों के साथ संक्रमितों की कुल संख्या 94,31,691 हो गयी। संक्रमण के कारण 443 और मरीजों की मौत हो जाने से मृतकों की संख्या 1,37,139 हो गयी।

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना का RT-PCR टेस्ट होगा सस्ता, CM केजरीवाल ने दिये निर्देश

राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमित 20 और लोगों की मौत,2677 नये संक्रमित सामने आए

राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमण के राजधानी जयपुर में अब तक के सबसे अधिक 745 मरीजों सहित सोमवार को 2,677 नये मामले सामने आये है। इसके साथ ही अब तक राज्य में सामने आएसंक्रमितों की कुल संख्या 2,68,063 हो गई है। वहीं, राज्य में संक्रमण से 20 और लोगों की मौत हो गई जिससे राज्य में कोविड-19 से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 2,312 तक पहुंच गई है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान की पूर्व मंत्री व भारतीय जनता पार्टी की वरिष्ठ विधायक किरण महेश्वरी का रविवार देर रात निधन हो गया। वह कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गयीं थीं और गुरुग्राम के अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था। अधिकारियों ने बताया,‘‘ सोमवार शाम छह बजे तक के बीते 24 घंटों में राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण से 20 और लोगों की मौत हुई हैं, जिससे महामारी में मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 2,312 हो गयी।’’ उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से जयपुर और जोधपुर में सोमवार को पांच-पांच, अजमेर में तीन और संक्रमित मरीजों की मौत होने से अब तक जयपुर में 435, जोधपुर में 239, अजमेर में 187, बीकानेर में 161, कोटा में 135, भरतपुर में 105, उदयपुर में 95, और पाली में 90 लोगों की कोविड-19 की वजह से जान जा चुकी है। उन्होंने बताया कि राज्य में अब तक कुल 2,37,098 लोग कोरोना वायरस संक्रमण से ठीक हो चुके हैं। 

इसे भी पढ़ें: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Covid-19 वैक्सीन तैयार कर रहीं तीन टीमों के साथ की वर्चुअल बैठक

महाराष्ट्र में कोविड-19 के 3837 नए मामले, केरल में 3382 नए मरीज मिले

महाराष्ट्र में सोमवार को कोविड-19 के 3,837 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 18,23,896 हो गई। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि संक्रमण से 80 लोगों की मौत हुई, जिसके बाद कुल मृतकों की संख्या बढ़कर 47,151 हो गई। वहीं, स्वस्थ हुए लोगों की संख्या 16,85,122 है जबकि 90,557 लोगों का उपचार चल रहा है। केरल में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 3,382 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर छह लाख के पार हो गई। वहीं 21 लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 2,244 हो गई। मुख्यमंत्री पी विजयन ने बताया कि अब तक 5,38,713 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में अक्टूबर के दौरान मामले बढ़े थे, जो अब घटने लगे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में फिलहाल 61,894 लोगों का उपचार चल रहा है। जम्मू-कश्मीर में संक्रमण के 370 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,10,224 हो गई। वहीं पिछले 24 घंटे में नौ लोगों की मौत हुई और मृतकों की संख्या 1,694 हो गई। राज्य में फिलहाल 4,965 लोगों का उपचार चल रहा है और अब तक 1,03,562 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: जानना चाहते है साल 2020 का सबसे प्रचलित शब्द कौन सा रहा?

गुजरात में कोविड-19 के 1502 नए मामले, 20 मरीजों की मौत

गुजरात में सोमवार को कोविड-19 के 1502 नए मामले आने से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 2,09,780 हो गयी। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि संक्रमण से 20 और मरीजों की मौत से मृतकों की संख्या बढ़कर 3989 पर पहुंच गयी। विभाग ने बताया कि स्वस्थ होने के बाद 1401 और मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दे दी गयी। राज्य में अब तक 1,90,820 लोग ठीक हो चुके हैं। विज्ञप्ति में बताया गया कि राज्य में कोविड-19 के ठीक होने की दर 90.96 प्रतिशत है।पिछले 24 घंटे में 69,875 नमूनों की जांच के साथ अब तक 78,25,615 जांच हो चुकी है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना नियम का उल्लंघन करने वालों को BMC देगी मुफ्त में मास्क, वसूलेगी जुर्माना

उत्तराखंड में 455 नए कोविड मामले

उत्तराखंड में सोमवार को 455 नए मरीजों में कोविड-19की पुष्टि हुई है जबकि प्रदेश में नौ अन्य मरीजों ने संक्रमण के कारण दम तोड दिया। स्वास्थ्य विभाग ने इसकी जानकारी दी। प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार, 455 नए मरीजों के मिलने के साथ ही प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या बढ़कर 74795 हो गयी है। ताजा मामलों में से सर्वाधिक 185 देहरादून जिले में मिले जबकि नैनीताल में57,पिथौरागढ में 49, हरिद्वार में 23 और पौड़ी में 19 मरीज सामने आए। बुलेटिन के अनुसार सोमवार को प्रदेश में नौ और कोविड मरीजों ने दम तोड़ दिया। महामारी से अब तक प्रदेश में 1231 मरीज जान गंवा चुके हैं। प्रदेश में सोमवार को 352 और मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो गए। अब तक कुल 67827 मरीज उपचार के बाद स्वस्थ हो चुके हैं और उपचाराधीन मामलों की संख्या 5059 है। प्रदेश में कोविड 19 के 678 मरीज प्रदेश से बाहर चले गए हैं।

इसे भी पढ़ें: उत्तर प्रदेश में कोरोना से 19 और मरीजों की मौत, 2,044 नए मामले


त्रिपुरा में कोविड-19 के 21 नए मामले, संक्रमितों की संख्या 32,695 हुई

त्रिपुरा में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के कम से कम 21 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 32,695 हो गई। एक स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि इस दौरान संक्रमण से किसी व्यक्ति की मौत नहीं हुई? जिससे मृतकों की संख्या 367 बनी हुई है। इनमें से 185 लोगों की मौत पश्चिमी त्रिपुरा जिले में हुई है और अगरतला इसी का हिस्सा है। त्रिपुरा में अभी 598 लोगों का उपचार चल रहा है और बीमारी से अब तक 31,707 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

इसे भी पढ़ें: राजस्थान की भाजपा नेत्री किरण माहेश्वरी के निधन पर रतलाम में भी शोक व्याप्त

केंद्र ने राज्यों से कोविड-19 टीकाकरण अभियान के लिए स्वास्थ्यकर्मियों की पहचान करने को कहा

केंद्र ने राज्यों से कहा है कि वे एक बार टीका उपलब्ध हो जाने की स्थिति में कोविड-19 टीकाकरण अभियान को अंजाम देने के लिए डॉक्टरों, दवा विक्रेताओं, एमबीबीएस और बीडीएस इंटर्न सहित स्वास्थ्यकर्मियों की पहचान करें। केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को लिखे पत्र में कहा है कि एमबीबीएस और बीडीएस इंटर्न सहित नर्सों, सहायक नर्सों और दवा विक्रेताओं की टीकाकरण अभियान को अंजाम देने के लिए पहचान की जाए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव वंदना गुरनानी ने कहा कि राज्य उपरोक्त श्रेणियों से सेवानिवृत्त कर्मियों की भी पहचान कर सकते हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार कोरोना वायरस रोधी टीका उपलब्ध होने जाने की स्थिति में, इसे विशेष कोविड-19 टीकाकरण अभियान के तहत वितरित किया जाएगा। इस काम में मौजूदा सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम (यूआईपी) से संबंधित प्रक्रिया, प्रौद्योगिकी और नेटवर्क का पालन किया जाएगा। यह यूआईपी के समानांतर चलेगा। सूत्रों के अनुसार टीकाकरण अभियान में स्वास्थ्यकर्मियों को प्राथमिकता दी जाएगी। डॉक्टरों, एमबीबीएस छात्रों, नर्सों और आशा वर्करों सहित अग्रिम पंक्ति के लगभग एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों की पहचान की गई है जिन्हें उपलब्ध होते ही यह टीका लगाया जाएगा।

इसे भी पढ़ें: इंदौर में मिले कोरोना के 523 नये मामले, चार लोगों की हुई मौत

कोविड-19: दिल्ली सरकार ने आरटी-पीसीआर जांच का शुल्क घटाकर 800 रुपये किया

दिल्ली सरकार ने कोविड-19 की आरटी-पीसीआर जांच की कीमत 2400 रुपये से घटाकर 800 रुपये करने के लिए सोमवार को आदेश जारी कर दिया। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरटी-पीसीआर जांच की कीमत घटाने का निर्देश दिया है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि निजी प्रयोगशालाओं से कहा गया है कि वे सरकारी टीमों द्वारा लिए गए नमूनों और जिलों एवं अस्पतालों के कहने पर नमूने वाले स्थल पर निजी प्रयोगशालाओं की ओर से लिए गए नमूनों की जांच करने के लिए 800 रुपये का शुल्क लें। बहरहाल, घर पर जाकर लिए गए नमूने की कोविड-19 जांच का शुल्क 1200 रुपये रहेगा। सभी प्रयोगशालाओं एवं अस्पतालों से जांच की संशोधित कीमत 24 घंटे के भीतर उचित स्थान पर प्रदर्शित करने को कहा गया है। निजी प्रयोगशालाओं से यह भी कहा गया है कि वे नमूनों की जांच कर रिपोर्ट को ग्राहक (सरकार या व्यक्ति) के साथ साझा करें और नमूने लेने के 24 घंटे के भीतर सभी रिपोर्टों को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के पोर्टल पर अपडेट करें। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने पहले कहा था कि प्रयोगशालाओं को सभी जांचों की रिपोर्ट एक दिन में जारी करने में मुश्किल हो रही है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।