इस तरह बनाएं मसालेदार मेथी की चकरी, चाय का स्वाद और बढ़ जायेगा

इस तरह बनाएं मसालेदार मेथी की चकरी, चाय का स्वाद और बढ़ जायेगा

शाम की चाय के समय जब कुछ हल्का लेकिन मसालेदार खाने का मन करता है तो कुछ समझ ही नहीं आता कि क्या खाया जाए। अगर आपके साथ भी ऐसी ही समस्या रहती है तो आप मेथी की चकरी बनाएं।

शाम की चाय के समय जब कुछ हल्का लेकिन मसालेदार खाने का मन करता है तो कुछ समझ ही नहीं आता कि क्या खाया जाए। अगर आपके साथ भी ऐसी ही समस्या रहती है तो आप मेथी की चकरी बनाएं। इसे बनाकर कुछ दिनों के लिए बेहद आसानी से स्टोर किया जा सकता है। साथ ही यह काफी चटपटी व मसालेदार भी होती है। ऐसे में आप इसे बनाकर अपने घर में रखें और जब भी कुछ हल्का खाने का मन हो या चाय पीने का मन करे तो साथ में यह मेथी की चकरी खाएं। तो चलिए जानते हैं मेथी की चकरी बनाने की विधि−

सामग्री

एक कप मैदा

एक चुटकी अजवाइन

मेथी के पत्ते

नमक

जीरा

धनिया पाउडर

लाल मिर्च पाउडर

तलने के लिए तेल

विधि− मेथी की मठरी या चकरी बनाने के लिए सबसे पहले एक परात लेकर उसमें एक कप मैदा डालकर उसमें एक चुटकी अजवाइन व नमक डालकर मिक्स करें। इसके बाद इसमें दो चम्मच तेल डालकर मोयन करें। अब इसमें थोड़ा−थोड़ा पानी डालकर एक सॉफ्ट आटा तैयार करें। जब आटा तैयार हो जाए तो उसे गीले कपड़े में लपेटकर करीबन 15 से 20 मिनट के लिए रेस्ट करने दें।

अब मेथी के पत्ते लेकर उसे एकदम महीन काट लें। अब इसमें आधा चम्मच जीरा, धनिया पाउडर, नमक, लाल मिर्च पाउडर डालकर अच्छी तरह मिक्स करें। अब तैयार मेथी को दो भागों में बांट लें। इसके बाद आटे के भी दो भाग करें और इसे गोल करके बेले। अब इसके ऊपर थोड़ा सा तेल डालकर हाथों की मदद से फैलाएं। इसके बाद तैयार मेथी के मसाले को डालकर अच्छी तरह फैलाएं। अब इसके ऊपर थोड़ा सा सूखा मैदा छिड़के और इसे रोल करें। ठीक इसी तरह दूसरा रोल भी तैयार करें।

इसके बाद दोनों रोल को चाकू की मदद से काटें। अब सभी तैयार चकरी को एक बार बेलन की सहायता से बेलें। याद रखें कि अब इसे एक बार से ज्यादा नहीं बेलना है।

अब एक कड़ाही में तेल गर्म करें। जब तेल गर्म हो जाए तो आंच को मध्यम करके उसमें तैयार मठरी को डालें और पकाएं। याद रखें कि गैस की आंच धीमी या मध्यम हो। तेज आंच पर मठरी अंदर से कच्ची रह जाएगी और न ही क्रिस्पी बनेगी।

आपकी मेथी की मठरी तैयार है। बस इसे टिश्यू पेपर पर निकालें और जब यह ठंडा हो जाए तो किसी एयरटाइट कंटेनर में स्टोर करें। जब भी मन हो, बस डिब्बा खोलें और मठरी का आनंद उठाएं।

-मिताली जैन