जन्माष्टमी पर कन्हैया का स्वागत करने के लिए कुछ ऐसे सजाएं अपना पूजाघर

krishna janmashtami
श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मंदिरों और घरों को सजाया जाता है और तरह-तरह के पकवान बनते हैं। जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण के आगमन की तैयारियां कई दिन पहले से ही शुरू हो जाती हैं। अगर आप भी घर के मंदिर को सजाकर कान्हा का स्वागत धूम-धाम करना चाहते हैं तो आज का यह लेख जरूर पढ़ें।

देशभर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार बड़ी धूम धाम से मनाया जाता है। इस दिन कृष्ण भक्त भगवान के जन्म की खुशियाँ मानते हैं। इस दिन मंदिरों और घरों को सजाया जाता है और तरह-तरह के पकवान बनते हैं। जन्माष्टमी पर श्रीकृष्ण के आगमन की तैयारियां कई दिन पहले से ही शुरू हो जाती हैं। अगर आप भी  घर के मंदिर को सजाकर कान्हा का स्वागत धूम-धाम करना चाहते हैं तो आज का यह लेख जरूर पढ़ें। आज हम आपको मंदिर सजाने के आसान तरीके बताने जा रहे हैं- 

इसे भी पढ़ें: अध्यात्म के विराट आकाश में भगवान श्रीकृष्ण की चमक

फूलों की सजावट

सजावट के लिए फूलों का इस्तेमाल सबसे ज्यादा किया जाता है। पूजा में भी फूलों का बहुत महत्व है। आप चाहें तो फूलों से मंदिर या द्वार सजा सकते हैं। इसके अलावा आप किसी तांबे के पात्र में पानी डालकर उसमें फूल डालकर रख सकते हैं। भगवान कृष्ण को चमेली और मोगरा जैसे सुगंधित फूल अतिप्रिय हैं। आप कान्हा के आसान पर भी फूल बिछा सकते हैं या फूलों की माला से कान्हा के झूले को सजा सकते हैं। 

रंग-बिरंगी लाइट्स 

मंदिर की सजावट के लिए आप रंग-बिरंगी लाइट्स का प्रयोग कर सकते हैं। आप दिवाली पर इस्तेमाल की जानी वाली रंग-बिरंगी एलईडी लाइट्स से मंदिर को सजा सकते हैं। इसके अलावा आप मंदिर की दीवार पर लाइट्स से सजावट कर सकते हैं। रंग-बिरंगी लाइट्स की रौशनी से आपका मंदिर जगमगा उठेगा। 

बाँसुरी सजाएं 

श्रीकृष्ण को बांसुरी अतिप्रिय है। कान्हा अपनी बाँसुरी के संगीत से गोपियों और साथियों को मंत्रमुग्ध कर दिया करते थे। जन्माष्टमी पर आप बंसुरी को सजाकर इसे कान्हा के पास रख सकते हैं या मंदिर के कमरे में टाँग सकते हैं। इसके लिए आप बाजार से बांसुरी लाकर इसे गोल्डन रिबन और शीशों से सजाएं।

रंगीन कागज़ 

मंदिर सजाने के लिए आप रंगीन कागज का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप मंदिर में रंगीन कागज़ बिछा कर उस पर कान्हा की मूर्ति या तस्वीर रख सकते हैं। इसके अलावा आप रंगीन कागज़ की झालर बना कर मंदिर की सजावट कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: जन्माष्टमी पर इस तरह करें कान्हा का पूजन, पढ़िये व्रत कथा और पूजा से जुड़ी खास बातें

रंगोली

हमारी संस्कृति में किसी मेहमान के स्वागत के लिए रंगोली बनाई जाती है। ऐसे में जन्माष्टमी में आप कान्हा का स्वागत रंगोली बनाकर कर सकते हैं। किसी भी मंगल कार्य में रंगोली बनाना शुभ माना जाता है। आप मंदिर के मुख्य द्वार पर रंग, फूल, दीये या आटे से रंगोली बना सकते हैं।  

दही हांडी सजाएं 

भगवान कृष्ण को दही और मक्खन बहुत पसंद था। बचपन में कान्हा दही और मक्खन चुराकर खाते थे इसलिए उन्हें माखन चोर कहा जाता है। जन्माष्टमी के अवसर पर कई शहरों में दही हांडी का आयोजन भी होता है। इस खास मौके पर आप अपने घर पर दही हांडी बनाकर टांग सकते हैं। इसके लिए आप छोटी मिट्टी की मटकी खरीदें और इसे सुनहरे रंग के रिबन और शीशों से रंग कर सजाएं। आप इसमें थोड़ा सा दही और सफेद मक्खन भरकर भी लटका सकते हैं।

- प्रिया मिश्रा 

अन्य न्यूज़