• रामायण के रावण के लिए अमरीश पुरी थे पहली पसंद, जाने कैसे दी एक्टर को अरविंद त्रिवेदी ने टक्कर

रेनू तिवारी Apr 20, 2020 17:00

रामायण के टेलीकास्ट के दौरान इस समय सभी किरदार एक बार फिर चर्चा में है। रामायण के रावण यानी कि अरविंद त्रिवेदी की बात करें तो जिस तरह का उन्होंने रावण का किरदार निभाया था शायद ही उस तरह से ये किरदार कोई और निभा पाता।

रामायण को दूरदर्शन पर सालों बाद एक बार फिर रिपीट टेलीकास्ट किया जा रहा है। रामायण-महाभारत को लेकर लोगों में काफी क्रेज देखने को मिला है। रामायण- महाभारत जैसे धार्मिक धारावाहिकों के कारण दूरदर्शन की टीआरपी छप्पर फाड़ रही है। रामायण को लेकर लोगों में अलग तरह की दीवानगी देखने को मिली है। रामयण के हर ने दर्शकों के दिल में अपनी जगह बनाई, राम, साता, लक्ष्मण, भरत से लेकर रावण, मेघनाथ, कुंभकरण सभी ने अपने-अपने किरदार को दमदार तरीके से निभाया। 

इसे भी पढ़ें: प्रियंका चोपड़ा, शाहरुख खान सहित तमाम सितारों ने कोरोना वॉरियर्स को इस नये अंदाज में कहा- शुक्रिया

रामायण के टेलीकास्ट के दौरान इस समय सभी किरदार एक बार फिर चर्चा में है। रामायण के रावण यानी कि अरविंद त्रिवेदी की बात करें तो जिस तरह का उन्होंने रावण का किरदार निभाया था शायद ही उस तरह से ये किरदार कोई और निभा पाता। रामयण में रावण का राम के बाद काफी अहम रोल होता है क्योंकि राम ने रावण को मारने के लिए ही धरती पर अवतार लिया है। ऐसे में रामानंद सागर को एक दमदार कलाकार इस रोल के लिए चाहिए था। रामायण की कास्ट का चुनाव करते वक्त रामायण के रावण के लिए अरविंद त्रिवेदी नहीं बल्कि एक्टर अमरिश पुरी को चुना गया था। मेकर्स ने भी अमरिश पुरी का ही नाम सुझाया था। राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल ने जब रावण के किरदार के लिए पूछा गया तो उन्होंने भी अमरिश पुरी का ही नाम सुझाया था। 

इसे भी पढ़ें: भगवान दादा ने जड़ दिया था रामायण की मंथरा को चांटा, इसी थप्पड़ के कारण ललिता पवार को मार गया था लकवा

रामायण में रावण के किरदार के लिए लेकिन भगवान ने भी किसी और का ही नाम सोच रखा था। अरविंद त्रिवेदी को जब पता चला कि रामायण की कास्ट के लिए ऑडिशन हो रहा है तो उन्होंने मुंबई की ओर रुख किया। वह केवट के किरदार के लिए ऑडिशन देने आये थे। अरविंद त्रिवेदी को जब रानानंद सागर ने देखा तो पहली बार में ही उन्होंने सोच लिया था कि रावण का किरदार अरविंद त्रिवेदी ही करेंगें।

रामायण को दूरदर्शन ने एक बार फिर टेलीकास्ट करके लोगों के सामने मर्यादा पुरुषोत्तम राम की कहानी और उनकी वीरगाथा को दोहरा दिया। भगवान विष्णु ने धरती पर राक्षस को मारने के लिए श्री राम के रूप में मानव अवतार लिया था। श्री राम ने रावण का वध करके सच की जीत को अमर कर दिया।