तान्हाजी वीडियो क्लिप को लेकर विवाद: प्रधानमंत्री मोदी को दिखाया शिवाजी

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 21, 2020   18:52
तान्हाजी वीडियो क्लिप को लेकर विवाद: प्रधानमंत्री मोदी को दिखाया शिवाजी

बॉलीवुड फिल्म ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ के एक हिस्से के बारे में सोशल मीडिया पर एक ऐसी वीडियो क्लिप सामने आयी है जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को छत्रपति शिवाजी के रूप में दिखाया गया है।महाराष्ट्र के गृह मंत्री देशमुख ने कहा कि उन्हें वीडियो के बारे में शिकायतें मिली हैं और सरकार यूट्यूब के समक्ष इस मुद्दे को उठायेगी।

मुंबई। बॉलीवुड फिल्म ‘तान्हाजी- द अनसंग वॉरियर’ के एक हिस्से के बारे में सोशल मीडिया पर एक ऐसी वीडियो क्लिप सामने आयी है जिसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को छत्रपति शिवाजी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह को तान्हाजी के रूप में दिखाया गया है। महाराष्ट्र के गृह मंत्री और राकांपा नेता अनिल देशमुख ने वीडियो की निंदा की और कहा कि सरकार यूट्यूब के साथ इस मुद्दे को उठायेगी। सबसे पहले यह क्लिप ट्विटर हैंडल ‘पॉलिटिकल कीड़ा’ पर पोस्ट की गई जिसमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उदयभान सिंह राठौड़ के रूप में दिखाया गया है।

इसे भी पढ़ें: ''तानाजी'' पर सैफ अली खान ने खोला मुंह... तो लोगों ने कर दी राहुल गांधी से तुलना

वीडियो क्लिप की निंदा करते हुए महाराष्ट्र के गृह मंत्री देशमुख ने कहा कि उन्हें वीडियो के बारे में शिकायतें मिली हैं और सरकार यूट्यूब के समक्ष इस मुद्दे को उठायेगी। शिवसेना के नेता संजय राउत ने पत्रकारों को बताया कि उनकी पार्टी छत्रपति शिवाजी का इस तरह का ‘‘अपमान’’ सहन नहीं करेगी। उन्होंने पूछा कि जिन लोगों ने उनकी टिप्पणी के खिलाफ विरोध किया, वे अब क्लिप को लेकर चुप क्यों हैं। भाजपा ने वीडियो क्लिप से दूरी बनाते हुए कहा कि यह पार्टी से संबंधित नहीं है और वह छत्रपति शिवाजी के साथ कभी भी किसी की तुलना नहीं करेगी। देशमुख ने कहा, ‘‘मैं राजनीतिक लाभ लेने के लिए इतना नीचे गिरने के लिए भाजपा की निंदा करता हूं। (राजनीतिक फायदे के लिए) शिवाजी महाराज, तान्हाजी का इस्तेमाल करना गलत है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम इस मुद्दे को यूटयूब के समक्ष उठायेंगे।’’

राउत ने कहा कि उनकी पार्टी अपने ‘‘देवता’’ शिवाजी महाराज का अपमान सहन नहीं करेगी। हिंदुत्व नेता संभाजी भिडे और सतारा से पूर्व सांसद उदयनराजे भोसले का नाम लिये बगैर राउत ने कहा कि उन्होंने ‘‘इन सभी लोगों’’ को क्लिप भेज दी है और वह इस पर उनकी प्रतिक्रिया का इंतजार कर रहे है। भाजपा नेता राम कदम ने इस वीडियो क्लिप से उनकी पार्टी को दूर रखे जाने की बात कही।

इसे भी पढ़ें: टीवी की दुनिया से खोजा रास्ता, इन पांच फिल्मों ने सुशांत सिंह राजपूत को बनाया सुपरस्टार

उन्होंने कहा, ‘‘भाजपा का ट्विटर अकाउंट ‘राजनीतिक कीड़ा’ पर पोस्ट किए गए क्लिप से कोई संबंध नहीं है। यह भाजपा की आधिकारिक वीडियो नहीं है। इसे कहीं भी अभियान में इस्तेमाल नहीं किया गया है। भाजपा कभी भी छत्रपति शिवाजी महाराज के साथ किसी की तुलना का बचाव नहीं करेगी।’’

कदम ने हालांकि राउत पर इस मुद्दे को इसलिए उठाने का आरोप लगाया ताकि वह कांग्रेस नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण से संबंधित सवालों के जवाबों से बच सके। चव्हाण ने एक वीडियो में कथित तौर पर कहा है कि उनकी पार्टी शिवसेना के नेतृत्व वाली सरकार में भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए ‘‘मुस्लिम समुदाय’’ के ‘‘अनुरोध’’ पर शामिल हुई है। यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। चव्हाण ने मंगलवार को ‘पीटीआई’ से कहा कि उन्होंने अपने भाषण में मुसलमानों का विशेष रूप से उल्लेख नहीं किया है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।