फिल्मकार मुजफ्फर अली की आत्मकथा का नवंबर में होगा विमोचन

Muzaffar Ali
ANI
मशहूर फिल्मकार और चित्रकार मुजफ्फर अली की आत्मकथा ‘जिक्र: इन द लाइट एंड शेड ऑफ टाइम’ का नवंबर में विमोचन होगा। प्रकाशक ‘पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया (पीआरएचआई) ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा की।

नयी दिल्ली। मशहूर फिल्मकार और चित्रकार मुजफ्फर अली की आत्मकथा ‘जिक्र: इन द लाइट एंड शेड ऑफ टाइम’ का नवंबर में विमोचन होगा। प्रकाशक ‘पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया (पीआरएचआई) ने बृहस्पतिवार को यह घोषणा की। अली ने अपनी इस आत्मकथा में फिल्म एवं बॉलीवुड जगत के कई अनसुने किस्से साझा किए हैं, ‘अंजुमन’ और ‘गमन’ जैसी फिल्मों के निर्माण के दौरान की पर्दे के पीछे की कई कहानियां बताई हैं और उन बातों का जिक्र किया है, जिन्होंने उन्हें एवं उनके काम को प्रभावित किया। अली (77) ने एक बयान में कहा, ‘‘कविताएं मुझे प्रेरित करती हैं, लेकिन मैं कवि नहीं हूं। मैं कलाकारों से प्रेरित होता हूं, मैंने कई कलाकारों को प्रेरित किया है। मैं जिन लोगों से मिला हूं और जिन जगहों पर मैं रहा हूं, ‘जिक्र’ उनके लिए एक सम्मान है।’’

इसे भी पढ़ें: मनीष सिसोदिया के बाद अब अरविंद केजरीवाल को सता रहा है राघव चड्ढा की गिरफ्तारी का डर, जानें क्या है पूरा माझरा

अली एक फैशन डिजाइनर भी हैं। वह कोटवाड़ा के शाही परिवार से संबंध रखते हैं। उन्होंने अपने करियर की शुरुआत विज्ञापनों से की थी और बाद में बॉलीवुड में फिल्म निर्माता के रूप में अपनी पहचान बनाई। उन्होंने ‘उमराव जान’ और ‘गमन’ जैसी फिल्मों का निर्माण करने के अलावा कई वृत्तचित्र एवं लघु फिल्म भी बनाईं। उन्हें 2005 में पद्म श्री और 2014 में राजीव गांधी राष्ट्रीय सद्भावना पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

इसे भी पढ़ें: 'शहर में ट्रांसपोर्ट व्यवस्था का दुरुस्त होना जरूरी', मोदी बोले- 21वीं सदी के भारत को मिलने वाली है नई गति

पीआरएचआई के एडबरी पब्लिशिंग एंड विंटेज में प्रकाशक मिली ऐश्वर्या ने कहा, ‘‘मुजफ्फर अली कई प्रतिभाओं के धनी एवं बहुमुखी कलाकार, चित्रकार, फिल्म निर्माता और कवि हैं जिन्होंने रोमांच से भरा जीवन जिया है। अपनी आत्मकथा ‘जिक्र’ के जरिए मुजफ्फर हमें अपने जीवन की आकर्षक यात्रा पर ले जाते हैं।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़