पर्दे पर निभाए गये इन दमदार किरदारों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे इरफान खान

पर्दे पर निभाए गये इन दमदार किरदारों के लिए हमेशा याद किए जाएंगे इरफान खान

इरफान का व्यक्तित्व ऐसा था जिसे आप एक शब्द में नहीं परिभाषित कर सकते। इरफान को जानने के लिए किताब का एक पन्ना पढ़ना काफी नहीं है उन्हें समझने के लिए पूरी किताब पढ़नी होगी। दुनिया को अलविदा करहने के बाद भी लोगों के जहन में इन्हें जो जिंदा रखेगा वो है उनके द्वारा निभाए गये किरदार।

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता इरफान खान का 54 साल की उम्र में निधन हो गया है। 29 अप्रैल 2020 की सुबह 11.30 पर लंबी बीमारी के बाद उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। अचानक तबियत बिगड़ने के बाद उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, इसी अस्पताल में इरफान खान ने अंतिम सांस ली। दिग्गज अभिनेता इरफान बॉलीवुड के ऐसे कलाकार थे  जिन्होंने पर्दे पर किरदार को केवल निभाया नहीं बल्कि जीया था। उनका अभिनय देखते वक्त दर्शक उनकी आंखों के भाव से समझ जाते थे कि फिल्म की परिस्थिति किस ओर रूख कर रही है। इरफान खान जैसे कलाकार इंडस्ट्री में बहुत ही मुश्किल से मिलते हैं। इरफान खान ने भले ही कम उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया हो लेकिन वह हमारे जहन में हमेशा अमर रहेंगे। 

 

इरफान ने अपनी जिंदगी की हर जंग एक योद्धा की तरह लड़ी है फिर चाहें वो अपने करियर की हो या फिर जानलेवा बीमारी की। कैंसर जैसी बीमारी को उन्होंने हराया और फिल्म अंग्रेजी मीडियम से पर्दे पर वापसी की। देश के मुश्किल हालात जल्द से जल्द ठीक हो जाए उसके लिए बीमार होने के बावजूद उन्होंने 12 घंटे का व्रत रखा और ईश्वर से प्रार्थना की। इरफान खान एक अच्छे अभिनेता के साथ-साथ एक दिलखुश और धर्म-जाति से उपर इंसानियत को रखने वाले शख्स थे। इरफान का व्यक्तित्व ऐसा था जिसे आप एक शब्द में नहीं परिभाषित कर सकते। इरफान को जानने के लिए किताब का एक पन्ना पढ़ना काफी नहीं है उन्हें समझने के लिए पूरी किताब पढ़नी होगी।

दुनिया को अलविदा कहने के बाद भी लोगों के जहन में इन्हें जो जिंदा रखेगा वो है उनके द्वारा निभाए गये किरदार। आइये हम आपको बतातें उनकी फिल्में के कुछ मशहूर किरदारों के बारें में-

कारवां

फिल्म कारवां  अगस्त 2018 में रिलीज हुआ थी। इस दौरान इरफान खान को पता चला था कि वह कैंसर से पीड़ित है। फिल्म कारवां में इरफान खान ने शौकत नाम किरदार निभाया था। शौकत के रूप में एक दिलदार आदमी है जो इंसानियत के लिए कुछ भी करता है। साथ ही वह एक अच्छा दोस्त भी होता है। 

मदारी

फिल्म मदारी में इरफान खान ने एक किडनैपर की किरदार निभाया था। फिल्म में नेताओं के भ्रष्टाचार के कारण वह अपने बेटे को खो देता है नेताओं को अपनों के खोने का एहसास करवाने के लिए वह मिनिस्टर के बेटे को किडनैप कर लेता है। इरफान खान ने अपने दमदार अभिनय से इस फिल्म को सुपरहिट करवा दिया था। फिल्म को क्रिटिक्स की तरफ से भी बहुत अच्छे रिव्यू मिले थे।

मकबूल

विशाल भारद्वाज के डायरेक्शन में बनी मकबूल इरफान खान की यादगार फिल्मों में से एक हैं। यह फिल्म शेक्सपीयर के मशहूर नाटक 'मैकबेथ' का अडैप्टेशन थी। फिल्म में इरफान खान ने लीड रोल प्ले किया था। इसके अलावा फिल्म में पंकज कपूर, ओम पुरी, नसीरुद्दीन शाह, तब्बू और पीयूष मिश्रा जैसे मशहूर कलाकार थे। इस फिल्म ने इरफान खान के करियर को नई ऊंचाई दी। 

पीकू

फिल्म पीकू में इरफान खान दीपिका पादुकोण और अभिताभ बच्चन के साथ नजर आये थे।  फिल्म का निर्देशन शूजित सरकार ने किया था।  फिल्म में उन्होंने टैक्सियों का बिजनेस करना वाले एक शख्स का किरदार निभाया था। फिल्म में उनकी कॉमेडी वाले स्टाइल में पंचलाइन बोलना और गुस्सेल पीकू को इंप्रेस करने का स्टाइल लोगों को खूब पंसद आया था। 

लाइफ इन मेट्रो

एक्टिंग की दुनिया में अपना लोहा मनवा चुके इरफान खान ने अनुराग कश्यप की फिल्म लाइफ इन मेट्रो में एक बड़ी उम्र के आदमी का किरदार निभाया था जिसकी शादी नहीं हो रही थी। नौकरी करते करते उसकी शादी की उम्र निकल रही होती है वह लड़कियों के लिए डेसपेरेट रहता हैं। इस किरदार को भी इरफान ने अपने अभिनय के दम से यादगार बना दिया था।

द लंच बॉक्स

फिल्म लंच बॉक्स में इरफान खान ने एक ऐसा अदमी की किरदार निभाया था जो अपनी पत्नी को खो चुका होता है। पत्नी के लाइफ में न होने से वह उसकी जिंदगी में ज्यादा कोई उमंग नहीं होती। एक दिन एक अंजान लंच बॉक्स उनके लिए आता है और लंच बॉक्स में एक चिठ्ठी होती हैं। इस फिल्म में जिस तरह से उन्होंने अपना रोल प्ले किया था उसके लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा। उनकी आंखें, उनका लहजा, उनका एक-एक सीन जनता को पसंद आया था। इस फिल्म को कई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल्स में दिखाया गया था।

हिन्दी मीडियम

हिन्दी मीडियम फिल्म में दिखाया गया था कि कैसे आज बड़े-बड़े स्कूलों में शिक्षा के नाम पर व्यापार हो रहा है। फिल्म में इरफान खान ने चांदनी चौक में रहने वाले एक बिजनेस मैन का किरदार निभाया था जिसे अंग्रेजी नहीं आती है। फिल्म सुपरहिट रही थी। फिल्म में इरफान खान बहुत ही दमदार एक्टिंग की थी। 

अंग्रेजी मीडियम

फिल्म अंग्रेजी मीडियम इरफान खान की आखिरी फिल्म थी। फिल्म 18 मार्च को सिनेमाघरों में रिलीज हुई थी लेकिन लॉकडाउन के कारण फिल्म घाटे में रही। फिल्म में उन्होंने राजस्थान के शहर में रहने वाले आदमी का किरदार निभाया था। तबीयत खराब होने के बावजूद इरफान ने पूरी फिल्म पूरी की। फिल्म में वह राजस्थानी बोलते हुए दिखाई दे रहे थे। फिल्म में उन्होंने एक ऐसी बेटी के पिला का किरदार निभाया था जो विदेश  में बढ़ना चाहती हैं। 

पान सिंह तोमर

फिल्म पान सिंह तोमर का डायरेक्शन तिग्मांशु धूलिया ने किया था। फिल्म में इरफान ने मशहूर ऐथलीट से डकैत बने पान सिंह तोमर का किरदार निभाया था। इस किरदार को इरफान ने इतने बेहतरीन तरीके से निभाया था कि इसके लिए इरफान को बेस्ट ऐक्टर का नैशनल फिल्म अवॉर्ड दिया गया था।

लाइफ ऑफ पाई

ब़ॉलीवुड में शानदार फिल्में करने के बाद इरफान खान ने हॉलीवुड में कदम रखा। फिल्म लाइफ ऑफ पाई में उन्होंने मेल लीड एक्टर का रोल निभाया था। इस फिल्म में वे पाई नाम के आदमी के किरदार में थे,। पाई की जिसकी जिंदगी कई अजब चीजें देखकर गुजरी हैं। यहीं से उनके दुनियाभर में फैन्स बने. उनके काम की तारीफें और भी ज्यादा हुईं।