भारत-अमेरिका के आर्थिक संबंध होगी बाइडन प्रशासन की टॉप प्राथमिकता

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  जनवरी 22, 2021   15:21
भारत-अमेरिका के आर्थिक संबंध होगी बाइडन प्रशासन की टॉप प्राथमिकता

उद्योग संगठन सीआईआई ने कहा कि भारत-अमेरिका के आर्थिक संबंध बाइडन प्रशासन की शीर्ष प्राथमिकता पर होंगे।कोटक ने कहा कि बाइडन भारत-अमेरिका साझेदारी में कई उपलब्धियों में सीधे तौर पर शामिल थे, जिसमें भारत-अमेरिका परमाणु समझौता, भारत को अमेरिका के प्रमुख रक्षा साझेदार का दर्जा और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता शामिल है।

नयी दिल्ली। उद्योग संगठन सीआईआई ने गुरुवार को कहा कि उसे भरोसा है कि भारत-अमेरिका के द्विपक्षीय आर्थिक संबंध अमेरिका में राष्ट्रपति जो बाइडन की अगुवाई वाले प्रशासन की शीर्ष प्राथमिकता में होंगे। सीआईआई के अध्यक्ष उदय कोटक ने कहा, ‘‘भारतीय उद्योग जगत को भरोसा है कि राष्ट्रपति बाइडन और प्रधानमंत्री (नरेंद्र) मोदी की अगुवाई में दोनों देश वैश्विक आर्थिक एजेंडा को फिर से आकार देने में एक मजबूत भूमिका निभाएंगे।’’

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स 50,000 अंक के पार पहुंच कर फिसला, इन कंपनियों के शेयर गए नीचे

कोटक ने बाइडन को अमेरिका के 46वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने पर बधाई दी और कहा, ‘‘महामंदी के दौरान अमेरिकी अर्थव्यवस्था को फिर से खड़ा करने में राष्ट्रपति बाइडन का अनुभव अमेरिका को मजबूत बनाने और महामारी के बाद वैश्विक आर्थिक में सुधार के लिए सहायक होगा।’’ उन्होंने कहा कि बाइडन लंबे समय से भारत-अमेरिका संबंधों के समर्थक हैं और ‘‘हमारा मानना ​​है कि नए प्रशासन के लिए द्विपक्षीय आर्थिक संबंध उच्च प्राथमिकता में होंगे।’’ कोटक ने कहा कि बाइडन भारत-अमेरिका साझेदारी में कई उपलब्धियों में सीधे तौर पर शामिल थे, जिसमें भारत-अमेरिका परमाणु समझौता, भारत को अमेरिका के प्रमुख रक्षा साझेदार का दर्जा और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सदस्यता शामिल है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।