सोना तोड़ेगा सारे रिकॉर्ड, कोरोना के कहर से 82000 रुपये के पार होगी 10 ग्राम सोने की कीमत

सोना तोड़ेगा सारे रिकॉर्ड, कोरोना के कहर से 82000 रुपये के पार होगी 10 ग्राम सोने की कीमत

लॉकडाउन की वजह से देश और दुनिया की अर्थव्यव्यस्था पुरी तरह हिल गई है। बात करें वर्तमान में बाजार की स्थिति की तो कोरोना के कारण उघोग सेक्टर काफी सुस्त हो गया है। हर दिन सेंसक्स और निफ्टी में भी गिरावट दर्ज की जा रही है।

नई दिल्ली। चीन के वुहान मांस मार्केट से आया खतरनाक कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया में तहलका मचा चुका है। दुनिया में इसकी वजह से अब तक 1, 90,000 लोगों की जान चुकी है. देश और दुनिया की अर्थव्यव्यस्था इससे पूरी तरह डगमगा चुकी है। इस वायरस से निपटने के लिए आधे से ज्याजा देशों में लॉकडाउन लागू हो गया है। भारत में भी कोरोना वायरस से स्थिति काफी खतरनाक बनी हुई है। लॉकडाउन की वजह से देश और दुनिया की अर्थव्यव्यस्था पुरी तरह हिल गई है। बात करें वर्तमान में बाजार की स्थिति की तो कोरोना के कारण उघोग सेक्टर काफी सुस्त हो गया है। हर दिन सेंसक्स और निफ्टी में भी गिरावट दर्ज की जा रही है। बाजार की स्थिति निवेशकों को स्टॉक और बॉण्ड्स की ओर आकर्षित नहीं कर पा रही है जिसकी वजह से अब निवेशक सोना को सुरक्षित मानते हुए उस पर निवेश करने का सोच रहे है।

इसे भी पढ़ें: कोरोना से म्यूचुअल फंड इंडस्ट्री बेहाल, फ्रैंकलिन टेंपलटन MF ने बंद की 6 स्कीम्स

निवेशकों के लिए इस वक्त सोने में निवेश करना ज्यादा फायदेमंद लग रहा है। बैंक ऑफ अमेरिका सिक्योरिटीज के विश्लेषकों के मुताबिक साल 2021 के अंत तक सोने के दामों में काफी उछाल होगा। बता दे कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने का भाव साल 2021 के अंत तक 3000 डॉलर प्रति तक पहुंच सकता है। अगर इसको रूपये में देखें तो सोने की कीमत भारत में करीब 82000 रुपये प्रति 10 ग्राम हो जाएगी।

इसे भी पढ़ें: डॉलर के मुकाबले रुपया आज: रुपया शुरुआती कारोबार में 25 पैसे टूटा

कोरोना लॉकडाउन की वजह से कई लोगों ने सोने-चांदी की खरीदारी नहीं की लेकनि उसके बावजूद सोने की कीमतों में उछाल देखा गया। एचडीएफसी सिक्योरिटीज के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने और चॉंदी दोनों ही बहुमूल्य धातुओं का भाव क्रमश: 1,726 डॉलर प्रति औंस और 15.15 डॉलर प्रति औंस पर लगभग पिछले दिन के स्तर पर बना रहा है। शुक्रवार को वायदा कारोबार में सोने का भाव 315 रुपये की तेजी के साथ 46,742 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में जून डिलिवरी के लिए सोना वायदा का भाव 315 रुपये या 0.68 प्रतिशत की तेजी के साथ 46,742 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। इसमें 16,400 लॉट के लिए कारोबार हुआ।

इसे भी पढ़ें: सेंसेक्स में 500 अंकों से अधिक की गिरावट, निफ्टी 9,200 से नीचे आया

इसी तरह अगस्त डिलिवरी के लिए सोने का भाव 269 रुपये या 0.58 प्रतिशत की तेजी के साथ 46,696 रुपये प्रति 10 ग्राम हो गया। इसमें 16,383 लॉट के लिए कारोबार हुआ। बाजार विश्लेषकों ने कहा कि कारोबारियों की ताजा लिवाली से सोने की कीमतों में तेजी आई। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोने का भाव 0.06 प्रतिशत बढ़कर 1,746.40 डॉलर प्रति औंस हो गया। इन्हीं सबको देखते हुए निवेशक इस वक्त सिर्फ सोने में ही पैसा लगाना चाहते है। निवेशकों के मुताबिक सोना हमेशा ही सुरक्षित निवेश माना जाता है। 

 साल 2021 में सोने के दाम 82000 रुपए प्रति 10 ग्राम  

 इतिहास में शायद ही पहली बार ऐसा होगा जब सोने की कीमतों में इतनी तेजी से उछाल देखने को मिलेगा। इस वक्त कोई भी सोने में निवेश करता है तो उसे काफी फायदा होगा। यानि की अगर आप सोने में निवेश करते है तो वहीं सोना 1 साल बाद आपको दोगुना लाभ पहुंचाएगा। अमेरिका के गोल्डमैन सैक्स के विश्लेषकों के अनुसार मौजबदा हालात को देखते हुए सोना अभी कच्चे तेलों से बेहतर ऑप्शन है। आपको बता दे कि जिस तरीके से देश की आर्थिक व्य्वस्था चरमरा गई है उसको देखते हुए निवेशक सिर्फ सोने में ही निवेश करना चाहते है। कोई भी निवेशक अभी शेयर बाजार में निवेश करने से घबरा रहा है। इसी बीच निवेशको के लिए सोना एक सेव इंवेस्टमेंट को तौर पर देखा जा रहा है।