मुंबई में नए साल में लक्जरी मकानों की मांग में सुधार, मूल्य में स्थिरता की संभावना

  •  प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क
  •  नवंबर 24, 2020   18:39
मुंबई में नए साल में लक्जरी मकानों की मांग में सुधार, मूल्य में स्थिरता की संभावना

लक्जरी आवासीय परिसंपत्तियों के वार्षिक मूल्य सूचकांक पर आधारित एक ताजार रपट में मुंबई में 2021 में महंगे मकानों की मांग में सुधार दिख सकता है पर दाम पहले के स्तर पर बने रह सकते हैं।

नयी दिल्ली। लक्जरी आवासीय परिसंपत्तियों के वार्षिक मूल्य सूचकांक पर आधारित एक ताजार रपट में मुंबई में 2021 में महंगे मकानों की मांग में सुधार दिख सकता है पर दाम पहले के स्तर पर बने रह सकते हैं। रपट के अनुसार मुंबई सहित विश्व के 22 में से 20 प्रमुख शहरों में 2020 के अंत तक कीमतें औसतन पहले के स्तर पर बने रहने की संभावना है। वर्ष 2021 में इन शहरों में ऐसे आवास की कीमतें औसतन दो प्रतिशत तक सुधर सकती है।

इसे भी पढ़ें: मर्सडीज बेंज करेगी एसबीआई के साथ साझेदारी, आकर्षक’ ब्याज दरों पर देगी लोन  

अचल संम्पत्ति बाजार पर अध्ययन और परामर्श सेवाएं देने वाली फर्म नाइट फ्रैंक की इस रिपोर्ट में 2021 में मुंबई में प्राइम आवासी इकाइयों की कीमतों में 0.0 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान लगाया गया है। रपट के अनुसार वर्ष 2020 के अंत तक इन 22 में से नौ शहरों में महंगी आवासीय इकायों की कीमतों में गिरावट रहने की संभावना है। रपट में कहा गया है कि मंबई में अगले साल महंगी आवासीय इकायों की मांग में सुधार हो सकता है। प्राइम ग्लोबल फोरकास्ट 2021 रपट में वर्ष 2020में मंहगे मकानों के दाम की औसत वृद्धि दर दिल्ली को प्रमुख वैश्विक नगरों में 27 वें स्थान पर रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: दीपम करेगा बैंकों, बीमा कंपनियों में सरकार की हिस्सेदारी बिक्री के लिए सलाहकार की नियुक्ति  

नाइट फ्रैंक की इस रिपोर्ट मुंबई और बेंगलुरु को 33 वें और 34 वें स्थान पर रखा गया है। ऑस्‍ट्रेलेशिया क्षेत्र में ऑकलैंड पिछले साल की समान अवधि की तुलना में जुलाई-सितंबर तिमाही में 12.9 प्रतिशत मूल्य वृद्धि के साथ सूचकांक में सबसे ऊपर है। मनीला और शेनज़ेन 10.2 प्रतिशत और 8.9 प्रतिशत मूल्य वृद्धि के साथ क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर थे। संपत्ति सलाहकार इस संस्था ने मंगलवार को अपनी प्राइम ग्लोबल सिटीज़ इंडेक्स वर्ष 2020 की तीसरी तिमाही की रिपोर्ट जारी की है।

दूसरी तिमाही (अप्रैल-जून) की रिपोर्ट में, बेंगलुरु और दिल्ली 26 वें और 27 वें स्थान पर थे, जबकि मुंबई 32 वें स्थान पर था। नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, शिशिर बैजल ने कहा, भारतीय रियल एस्टेट सेक्टर में मामूली तकनीकी सुधार और लॉकडाऊन के बाद, लग्जरी मार्केट में महत्वपूर्ण तेजी देखी गई है। बैजल ने आगे कहा ‘‘खरीदार लक्जरी सहित सभी खंडों में आवासीय खरीद के लिए अनुकूल उत्साह रहे हैं क्योंकि पिछले कुछ तिमाहियों में संपत्ति की कीमतों में गिरावट आने की वजह से परिसंपत्तियों में निवेश आकर्षक बना है।’’ यह रिपोर्ट 45 शहरों में प्रमुख परिसंपत्तियों के कीमतों के घट बढ़ पर नजर रखती है।





Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।