• कोरोना की दूसरी लहर का भारत की अर्थव्यवस्था पर ज्यादा बुरा असर नहीं पड़ा: RBI

रेनू तिवारी Jun 04, 2021 10:29

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा और लगातार छठी बार एक उदार रुख बनाए रखा।

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने शुक्रवार को प्रमुख ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखा और लगातार छठी बार एक उदार रुख बनाए रखा। केंद्रीय बैंक की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने सर्वसम्मति से रेपो दर को 4 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखने का निर्णय लिया है जबकि रिवर्स रेपो दर को 3.35 प्रतिशत पर बनाए रखा गया है।

इसे भी पढ़ें: भारत-पाकिस्‍तान के बीच संघर्षविराम को हुए 100 दिन पूरे, जम्‍मू-कश्‍मीर के मुद्दे पर क्या बोला पाक? 

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा, "आरबीआई ब्याज दरों को अपरिवर्तित रखता है, सतत आधार पर विकास को पुनर्जीवित करने और बनाए रखने के लिए उदार रुख के साथ जारी है।" एमपीसी का फैसला अर्थशास्त्रियों ने पहले जो भविष्यवाणी की थी, उसके अनुरूप है। अपने एमपीसी संबोधन के दौरान, शक्तिकांत दास ने कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आर्थिक स्थिति के बारे में कई विवरण दिए। हालांकि, उन्होंने कहा कि दूसरी लहर ने अर्थव्यवस्था को उतना नुकसान नहीं पहुंचाया है, जितना पहली लहर ने पहुंचाया था।

इसे भी पढ़ें: SEBI ने म्यूचूअल फंड घरानों के लिए विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाकर एक अरब डॉलर की 

केंद्रीय बैंक ने भी चालू वित्त वर्ष या वित्त वर्ष 22 के लिए अपनी जीडीपी वृद्धि को संशोधित कर 9.5 प्रतिशत कर दिया है, जो पहले 10.5 प्रतिशत थी।

इसे भी पढ़ें: ब्याज पर ब्याज से दी गई छूट की भरपाई के लिये आईबीए ने सरकार का दरवाजा खटखटाया