भारत बंद पर जेटली ने कहा, ट्रेड यूनियनों के विरोध-प्रदर्शन के पीछे कोई ठोस आधार नहीं

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jan 10 2019 9:54AM
भारत बंद पर जेटली ने कहा, ट्रेड यूनियनों के विरोध-प्रदर्शन के पीछे कोई ठोस आधार नहीं
Image Source: Google

श्रमिकों के कल्याण के लिए राजग सरकार के कदमों का उल्लेख करते हुए जेटली ने कहा कि पूर्व की किसी भी सरकार ने श्रमिकों के जीवनस्तर को बेहतर बनाने के लिए इतने कम समय में कर्मचारियों के हित में फैसले नहीं किये हैं।

नयी दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बुधवार को वाम दलों से संबद्ध ट्रेड यूनियनों पर बिना बात के मुद्दों को खड़ा कर विरोध प्रदर्शन और बंद का आह्वान करने को लेकर आलोचना की और कहा कि केन्द्र की राजग सरकार ने श्रमिकों के कल्याण के लिए कई कदम उठाये हैं। केंद्र की कथित श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ दस केंद्रीय ट्रेड यूनियनों के भारत बंद के दूसरे और अंतिम दिन उन्होंने यह बात कही।

भाजपा को जिताए

 
जेटली ने ‘वर्तमान सरकार और श्रमिक’ शीर्षक से जारी फेसबुक पोस्ट में कहा है, “अगर वाम समर्थित ट्रेड यूनियन बिना किसी मुद्दे के प्रदर्शन कर ट्रेड यूनियन आंदोलन को राजनीतिक रंग देने की कोशिश करना जारी रखेंगे तो ऐसे में देश का श्रम बल गंभीरता से इस बात का विश्लेषण करेगा कि वर्तमान सरकार ने उनके लिए क्या किया है और पूर्व की सरकारों के अपेक्षाकृत कमजोर रिकॉर्ड से इसकी तुलना करेगा।” 



 
श्रमिकों के कल्याण के लिए राजग सरकार के कदमों का उल्लेख करते हुए जेटली ने कहा कि पूर्व की किसी भी सरकार ने श्रमिकों के जीवनस्तर को बेहतर बनाने के लिए इतने कम समय में कर्मचारियों के हित में फैसले नहीं किये हैं। जेटली ने कहा, “कागजी कामकाज को कम करने के लिए कई कानूनों में प्रक्रियाओं को सरल बनाया गया है लेकिन सरकार ऐसे फैसलों से बचती रही है जो कर्मचारियों के हितों के खिलाफ हो।” 
 

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप