वॉशिंगटन में भारत केंद्रित व्यापार सम्मेलन बैठक को संबोधित करेंगे कुश्नर, पेलोसी, रॉस और पैरी

By प्रभासाक्षी न्यूज नेटवर्क | Publish Date: Jul 8 2019 11:25AM
वॉशिंगटन में भारत केंद्रित व्यापार सम्मेलन बैठक को संबोधित करेंगे कुश्नर, पेलोसी, रॉस और पैरी
Image Source: Google

भारत-अमेरिका के बीच नये सिरे से पनपी मित्रता को प्रदर्शित करने के लिए व्हाइट हाउस ने इस हफ्ते यहां होने वाले भारत केंद्रित व्यापार सम्मेलन के लिए जेरेड कुश्नर समेत अपने सभी शीर्ष अधिकारियों को इसमें हिस्सा लेने के लिए कहा है। यह सम्मेलन पिछले महीने जापान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई बैठक के कुछ ही वक्त बाद हो रहा है।

वॉशिंगटन। भारत-अमेरिका के बीच नये सिरे से पनपी मित्रता को प्रदर्शित करने के लिए व्हाइट हाउस ने इस हफ्ते यहां होने वाले भारत केंद्रित व्यापार सम्मेलन के लिए जेरेड कुश्नर समेत अपने सभी शीर्ष अधिकारियों को इसमें हिस्सा लेने के लिए कहा है। यह सम्मेलन पिछले महीने जापान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई बैठक के कुछ ही वक्त बाद हो रहा है।

इसे भी पढ़ें: वेनेजुएला में स्वतंत्रता दिवस पर गुइदो ने निकाली रैली, मादुरो ने किया सैन्य परेड का नेतृत्व

इस कार्यक्रम में प्रतिनिधि सभा की अध्यक्ष एवं सबसे शक्तिशाली डेमोक्रेटिक नेता नैन्सी पेलोसी स्पष्ट करेंगी कि भारत और अमेरिका के बीच संबंध वैसे ही मजबूत हैं जैसा कि अमेरिका-इजराइल के संबंध हैं। व्हाइट हाउस अमेरका भारत रणनीतिक एवं साझेदारी मंच (यूएसआईएसएपीएफ) के दूसरे वार्षिक लीडरशिप समिट के लिए कैबिनेट के अपने दो मंत्रियों - ऊर्जा मंत्री रिक पैरी और वाणिज्य मंत्री विल्बर रॉस को भेजेगा। 

इसे भी पढ़ें: स्वतंत्रता दिवस पर ट्रम्प विरोधी और समर्थक समूह के बीच हुई झड़प, जलाया अमेरिकी झंडा



वॉशिंगटन डीसी स्थित मुख्यालय तथा अमेरिका के कई शहरों एवं भारत में शाखा के साथ यूएसआईएसएपीएफ कुछ ही वर्षों में कॉर्पोरेट क्षेत्र एवं रणनीतिक समुदाय दोनों के लिए ही अमेरिका में भारत केंद्रित शीर्ष हिमायती समूह के तौर पर उभरा है। यूएसआईएसएपीएफ के अध्यक्ष मुकेश आघी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि 11 जुलाई को होने वाला सम्मेलन दो क्षेत्रों - रक्षा एवं ऊर्जा सुरक्षा पर केंद्रित रहेगा और ये क्षेत्र दोनों ही देशों के लिए महत्त्वपूर्ण हैं। उन्होंने माना कि मोदी के फिर से चुने जाने से हमारे द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए अभूतपूर्व अवसर एवं प्रतिबद्धता को बढ़ावा मिला है।

रहना है हर खबर से अपडेट तो तुरंत डाउनलोड करें प्रभासाक्षी एंड्रॉयड ऐप