Kent RO सिस्टम्स की ‘कूल’ ब्रांड नाम से पंखा बाजार में दस्तक

Kent RO Systems
प्रतिरूप फोटो
Google Creative Commons
जल शोधन यानी आरओ बनाने वाली प्रमुख कंपनी ने कम बिजली खपत वाले बीएलडीसी (ब्रशलेस डायरेक्ट करंट) प्रौद्योगिकी से लैस पंखे बाजार में पेश किए। कंपनी इस उत्पाद के विनिर्माण के लिये उत्तर प्रदेश के नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर नया कारखाना लगाएगी।

केंट आरओ सिस्टम्स ने शुक्रवार को देश के पंखा बाजार में दस्तक दी। कंपनी ने कूल ब्रांड नाम से कम बिजली खपत करने वाला अत्याधुनिक पंखा पेश किया। जल शोधन यानी आरओ बनाने वाली प्रमुख कंपनी ने कम बिजली खपत वाले बीएलडीसी (ब्रशलेस डायरेक्ट करंट) प्रौद्योगिकी से लैस पंखे बाजार में पेश किए। कंपनी इस उत्पाद के विनिर्माण के लिये उत्तर प्रदेश के नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर नया कारखाना लगाएगी।

केंट आरओ सिस्टम्स के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक महेश गुप्ता ने कहा, बीएलडीसी पंखे आम पंखों की तुलना में कम से कम 65 प्रतिशत कम बिजली खपत करते हैं। उन्होंने कहा, अगर देश में 120 करोड़ घरेलू पंखे बीएलडीसी प्रौद्योगिकी वाले पंखों से बदल जाएं तो प्रतिवर्ष दो लाख करोड़ रुपये की बिजली की बचत की जा सकती है। गुप्ता ने कहा, देश ने कम ऊर्जा खपत वाले बल्ब ट्यूबलाइट, एसी और फ्रिज को बढ़ावा देने में उल्लेखनीय प्रगति की है।

लेकिन छत वाले पंखे उपयोग करने वाले 90 प्रतिशत घरों में से सिर्फ तीन प्रतिशत ही ऊर्जा बचत वाले पंखों का उपयोग कर रहे हैं। ‘कूल’ पंखे ऊर्जा दक्षता ब्यूरो (बीईई) की पांच सितारा रेटिंग से लैस हैं। इसे वाई-फाई, रिमोट, ‘वॉयस कमांड’ और मोबाइल फोन के जरिये चलाया जा सकता है। केंट आरओ पंखों का निर्यात करने की भी योजना बना रही है। फिलहाल पंखों का विनिर्माण इसके नोएडा स्थित परिसर पर 150 करोड़ रुपये के निवेश से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कंपनी बिक्री बाद मरम्मत व अन्य सेवाओं के लिए 1,600 से ज्यादा कर्मियों को नियुक्त करेगी। कंपनी पंखे के विनिर्माण के लिये उत्तर प्रदेश के नोएडा में यमुना एक्सप्रेस-वे पर नया कारखाना भी लगाएगी।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


अन्य न्यूज़