इस डिफेंस कंपनी के IPO को मिला भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन, इन बातों ने निवेशकों का ध्यान खींचा

इस डिफेंस कंपनी के IPO को मिला भारत के इतिहास में सबसे ज्यादा सब्सक्रिप्शन, इन बातों ने निवेशकों का ध्यान खींचा

एनएसई की अद्यतन सूचना के अनुसार, आईपीओ को 2,17,26,31,875 शेयरों के लिए बोलियां मिलीं, जबकि 71,40,793 शेयरों की पेशकश की गई थी। गैर-संस्थागत निवेशक श्रेणी को 927.70 गुना, योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) को 169.65 गुना और खुदरा वैयक्तिक निवेशकों (आरआईआई) को 112.81 गुना अभिदान प्राप्त हुआ।

पारस डिफेंस के आईपीओ के लिए बोली लगाने का गुरुवार को आखिरी दिन था। आईपीओ को शानदार रिस्पांस मिला। आईपीओ 304 गुणा से ज्यादा सब्सक्राइबर हुआ तो रिटेल निवेशकों का हिस्सा 111 गुणा से ज्यादा भरा है। गैर संस्थागत निवेशक का हिस्सा 927 गुणा सब्सक्राइबर हुआ। ब्रोक्रर्स की ओर से इस आईपीओ को सब्सक्राइबर करने की सलाह दी जा रही थी। इस आईपीओ में लिस्टिंग पर बड़ा मुनाफा हो सकता है। ग्रे मार्केट में डिमांड को देखते हुए शानदार लिस्टिंग का अनुमान लगाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: अमेजन ने 2018-20 के दौरान कानूनी मामलों में 8,546 करोड़ रुपये खर्च किए

एनएसई की अद्यतन सूचना के अनुसार, आईपीओ को 2,17,26,31,875 शेयरों के लिए बोलियां मिलीं, जबकि 71,40,793 शेयरों की पेशकश की गई थी। गैर-संस्थागत निवेशक श्रेणी को 927.70 गुना, योग्य संस्थागत खरीदारों (क्यूआईबी) को 169.65 गुना और खुदरा वैयक्तिक निवेशकों (आरआईआई) को 112.81 गुना अभिदान प्राप्त हुआ। आरंभिक सार्वजनिक पेशकश (आईपीओ) में 140.6 करोड़ रुपये तक का ताजा निर्गम और 17,24,490 इक्विटी शेयरों की बिक्री की पेशकश शामिल है। इस पेशकश के लिए मूल्य सीमा 165-175 रुपये रखी गई है 

इन बातों ने निवेशकों का ध्यान खींचा

कंपनी आईपीओ से केवल 179.77 करोड़ रुपये जुटा रही है। इश्यू का साईज छोटा होने की वजह से निवेशकों ने इसे हाथों हाथ लिया। निवशकों को पारस आईपीओ से मोटी कमाई की उम्मीद है। ग्रे मार्केट में भी पारस डिफेंस का प्रीमियम लगातार बढ़ रहा है। कंपनी के मार्कैट कैप 682.5 करोड़ रुपये का है। जून के महीने में कंपनी के पास करीब 305 करोड़ रुपये का ऑर्डर है। कंपनी को ड्रोन को लेकर आई पीएलआई स्कीम से भी फायदा मिल सकता है। कंपनी के ग्राहकों की सूची में कई बड़े नाम हैं। जिनमें ईसरो, डीआरडीओ, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, हिन्दुस्तान एरोनॉटिक्स, गोदरेज एंड बॉयसे, टीसीएस जैसे नाम शामिल हैं।